दिल्ली:अब कोविड केयर सेंटर जाना अनिवार्य नहीं, होम आइसोलेशन में भी रह सकेंगे कोरोना मरीज

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में लगातार कोरोना वायरस की रफ्तार बढ़ती जा रही है.इसी बीच दिल्ली में अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों को लेकर मामला साफ हो गया है.अब पहले की तरह कोरोना पॉजिटिव मरीजों के लिए कोविड केयर सेंटर जाना अनिवार्य नहीं होगा. उपराज्यपाल अनिल बैजल अपने पुराने फैसल से पीछे हट गए हैं, अनिल बैजल ने कुछ दिन पहले फैसला लेते हुए कहा था कि कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति को शुरुआती पांच दिनों के लिए कोविड केयर सेंटर में रखना अनिवार्य ही होगा. जिसके बाद अरविंद केजरीवाल ने इस फैसले पर आपत्ति जाहिर की थी.

लेकिन अब दिल्ली में अगर कोई व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है तो उसे कोविड केयर सेंटर जा कर अपनी जांच कराने की जरूरत नहीं है. बल्कि पुराने सिस्टम के अनुसार सरकार और प्रशासन के लोग उस व्यक्ति के घर आकर चेक करेंगे की कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति होम आइसोलेशन में रहने योग है या नहीं. आज गुरुवार को दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी की बैठक में इस बात का फैसला लिया गया है.

इस बैठक में फैसला लेते हुए ये तय किया गया है कि कोरोना पॉजिटिव मरीज के घर अगर होम आइसोलेशन में रहने के लिए उचित व्यवस्था नहीं है तो ही उसे कोविड केयर सेंटर में रखा जा सकता है. लेकिन अगर कोई मरीज अपने घर में ही होम आइसोलेशन का पूरी तरह से पालन करने के लिए तैयार है और उसे ऐसा करने में किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं है तो उसे कोविड केयर सेंटर में रखना अनिवार्य नहीं होगा.मतलब ये की कोई कोरोना मरीज अगर चाहे तो डॉक्टरों के निर्देशों का पालन करते हुए अपने घर पर रह सकता है