दिल्लीवासियों को जल्द मिलेगी भीषण गर्मी से राहत, 15 जून के बाद मौसम रहेगा सुहाना

दिल्ली वालों को शुक्रवार को झुलसाने वाली गर्मी से राहत मिलने के आसार हैं। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने बताया कि दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) और उत्तर पश्चिम भारत के अन्य हिस्सों में सप्ताहांत यानि की शुक्रवार  को अधिकतम तापमान में कुछ डिग्री सेल्सियस की गिरावट आएगी, लेकिन 15 जून तक बड़ी राहत मिलने की संभावना नहीं है। दिल्ली के कई इलाकों में गुरुवार को झुलसाने वाली लू की स्थिति बनी रही। दिल्ली के कई इलाकों में अधिकतम तापमान लगभग 45.3 डिग्री, 45.4 डिग्री एवं 45.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

बादलों के चलते भी नरम पड़ेगा मौसम

मौसम विभाग का अनुमान है कि शुक्रवार के बाद अगले तीन दिनों के बीच बादलों की आवजाही लगी रहेगी। हवा की रफ्तार भी अपेक्षाकृत तेज रहेगी। इसके चलते तापमान में बहुत ज्यादा इजाफा नहीं होगा। शुक्रवार के बाद से अगले तीन दिनों के बीच अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।

पूर्वी हवाएं 15 जून के बाद बदलेंगी मौसम

दिल्ली और एनसीआर को 15 जून के बाद गर्मी से काफी हद तक राहत मिल जाएगी। 16 जून से हवा की दिशा में बदलाव होने की संभावना है। 15 जून के बाद हवा की दिशा पूर्वी होने की संभावना है। यह हवाएं अपने साथ नमी लेकर आएंगी, जिसके चलते झुलसाने वाली गर्मी का दौर खत्म होगा। इस दौरान गरज के साथ छींटे भी पड़ेंगे। इससे भी मौसम सुहाना होने की उम्मीद है। इस बार अनुमान है कि जून के अंतिम सप्ताह में ही मानसून की बूंदें दिल्ली को सराबोर करेंगी। 

दक्ष‍िण भारत पर मेहरबान है मानसून

अगर मानसून दक्षिण भारत से होते हुए आगे बढ़ रहा है तो ये भी तय है कि आज नहीं तो कल गर्मी से राहत मिल ही जाएगी. जहां दक्षिण भारत में बादल बरस रहे हैं, वहीं उत्तर भारत में लोग बारिश के लिए तरस रहे हैं। मानसून के मामले में दक्षिण भारत के राज्यों की किस्मत उत्तर भारत के मुकाबले ज्यादा अच्छी है. सबसे ज्यादा गर्मी की मार झेलने के बाद राहत की बारिश भी  सबसे पहले इन्हीं पर पड़ती है। मानसून ने 7 जून तक कर्नाटक में दस्तक दे भी दी है. जहां तक बात पूर्वोत्तर के राज्यों की है तो यहां 2 से 7 जून से ताबड़तोड़ बारिश हो रही है।

यूपी- बिहार में इन दिन हो सकती है मानसून की एंट्री

मौसम विभाग के मुताबिक मानसून अगले दो दिनों में महाराष्ट्र पहुंचेगा. मध्य प्रदेश में दक्षिण-पश्चिम मानसून 15 से 20 जून के बीच दस्तक दे सकता है. बिहार में 12 जून के बाद मानसून आ सकता है। न के अंतिम सप्ताह में मानसून के पश्चिमी यूपी तक पहुंचने के आसार हैं.दिल्ली व इसके आसपास के क्षेत्रों में 27 जून के आसपास मानसून पहुंचने की संभावना है।

10 जून तक इन राज्यों में बरसेंगे बादल

10 जून तक मानसून महाराष्ट्र, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश के पूर्वी तट तक पहुंचेगा। छत्तीसगढ़, झारखंड और बिहार में 15 जून तक मानसून दस्तक दे देगा. 20 से 25 जून का हिस्सा मानसून के फैलाव के लिए बहुत बड़ा है. इसी दरम्यान उत्तर भारत के बड़े हिस्से में मानसून के बादल छाने की उम्मीद है. गुजरात, मध्य प्रदेश, राजस्थान, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा और चंडीगढ़ में बारिश की फुहारें पड़ने की आस है. पंजाब, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख जैसे राज्यों में 30 जून तक मानसून पहुंच सकता है।

पूर्वी हवाएं 15 जून के बाद बदलेंगी मौसम

दिल्ली और एनसीआर को 15 जून के बाद गर्मी से काफी हद तक राहत मिल जाएगी। 16 जून से हवा की दिशा में बदलाव होने की संभावना है। 15 जून के बाद हवा की दिशा पूर्वी होने की संभावना है। यह हवाएं अपने साथ नमी लेकर आएंगी, जिसके चलते झुलसाने वाली गर्मी का दौर खत्म होगा। इस दौरान गरज के साथ छींटे भी पड़ेंगे। इससे भी मौसम सुहाना होने की उम्मीद है। इस बार अनुमान है कि जून के अंतिम सप्ताह में ही मानसून की बूंदें दिल्ली को सराबोर करेंगी।