दिल्ली की हवा हुई “बेहद खराब”, ज़्यादातर इलाक़ों में AQI 300 के पार पहुंचा

अभी ठंड की शुरुआत भी नहीं हुई लेकिन दिल्ली में प्रदुषण लोगों को सताने लगा है.राजधानी दिल्ली में मंगलवार की सुबह वायु गुणवत्ताबहुत खराबश्रेणी में दर्ज की गई. यहां वायु गुणवत्ता सूचकांक 372 तक चला गया. दिल्ली के ज़्यादातर इलाक़ों में एक्युआई 300 के पार ही रहा. जिसके कारण आंखों में जलन और सांस लेने में दिक़्क़तें रही है, वही इस दौरान विजिबिलिटी भी कम हो गई है. ऐसा अनुमान है कि दिल्ली की हवा अभी और भी खराब स्थिति में पहुंच सकती है.

दिवाली के पटाखों से धुआं-धुआं दिल्ली, सांस लेना भी हुआ मुश्किल, PM लेवल 360  पार - delhi air pollution levels air quality index diwali - AajTak

दिल्ली के वाज़ीरपुर में सबसे खराब AQI 372 रहा, जिसे बहुत खराब क्षेणी में रखा जाता है. वही लोधी रोड पर सबसे सही AQI 196 रहा, जिसे मध्यम क्षेणी में रखा जाता है. ये मंगलवार सुबह 6 बजे दर्ज किए गए आकड़े है.

दिल्ली में वायु गुणवत्ता 29 जून के बाद से पहली बार 07 अक्टूबर 2020 कोखराबहुई थी और केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने तब 24 घंटे के दौरान एक्यूआई 215 दर्ज की थी. दिन पर दिन दिल्ली में वायु गुणवत्ता के खराब होने का एक मुख्य कारण पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में जलाए जा रहे पराली को भी माना जा रहा है.

दिल्लीवासियों को आज भी प्रदूषण से राहत नहीं, बेहद खराब स्तर पर पहुंची हवा -  delhiites still no relief from pollution

दिल्लीएनसीआर में प्रदूषण की समस्या को देखते हुए दिशानिर्देश जारी किए गए हैं. दिशानिर्देशों के तहत डीजल जनरेटर को पूरी तरह बैन कर दिया गया है. दिल्ली में प्रदुषण को कंट्रोल करने की तमाम कोशिशें की जा रही है लेकिन कोई ख़ास सफलता नही मिल पा रही है.

यहाँ आपकी जानकारी के लिए बता दें कि वायु गुणवत्ता 0 से 50 के बीचअच्छीक्षेणी में रखा जाता है. 51 से 100 तकसंतोषजनकयानी सामान्य , 101 से 200 तकमध्यम‘, 201 से 300 तकखराब‘, 301 से 400 तकबेहद खराबऔर 401 से 500 के बीचगंभीरमानी जाती है.