भारत में 7 महीने में 413 बार कांपा धरती, खतरे के मिल रहे है संकेत

साल 2020 में जहां एक तरफ कोरोना महामारी ने तबाही मचाई तो वही भारत में कोरोना के साथ-साथ भूकंप के लगातार छोटे-बड़े झटकों नें कहर बरपाया. लेकिन क्या आप जानते है कि इस साल यानी 2020 में अभी तक कितनी बार भारत की धरती हिली है?

दरअसल, हाल ही में देश के विज्ञान, तकनीकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने राज्यसभा में इस सवाल का जवाब दिया. तो चलिए जानते है कि बीते 7 महीनों में कितनी बार भूंकप के झटकों से देश की धरती थर्राई है?

Delhi Earthquake: NASA's Warning Message Proved Fake; Yet, Studies Warn of Stronger Quake | The Weather Channel

बीते 7 महीनों में यानी 1 मार्च 2020 से लेकर 8 सितंबर 2020 तक देश में कुल मिलाकर 413 बार भूकंप आए हैं. इन 413 भूकंप के झटकों में से 135 झटके ऐसे थे जो आपको पता नहीं चले क्योंकि इनकी तीव्रता बहुत कम रही. इनकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 3 से कम की मापी गई थी.

हालांकि, 153 भूकंप के झटके ऐसे थे जो लोगों को महसूस तो हुए लेकिन इनसे कहीं कोई नुकसान की खबर नहीं आई. इन झटकों की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 3.0 से लेकर 3.9 तक मापी गई थी. ऐसे भूकंप ज्यादातर अप्रैल और मई के महीने में आए थे.

India: 5.8 magnitude earthquake hits Gujarat | India – Gulf News

इसके अलावा देश में 114 भूकंप के झटके ऐसे आए, जिनसे कई राज्यों में कंपन महसूस किए गए. इनका रिक्टर पैमाने पर तीव्रता 4.0 से लेकर 4.9 की रही. ये भारत के बड़े इलाकों में महसूस किए गए थे. इससे कुछ जगहों पर हल्का-फुल्का नुकसान भी हुआ. हालांकि अच्छी बात ये रही कि इस भूकंप से किसी के मरने या जख्मी होने की कोई खबर नहीं आई.

इसके साथ ही देश में मध्यम दर्जे के यानी रिक्टर पैमाने पर 5.0 से लेकर 5.9 तीव्रता के 11 झटके भी आए. इन 11 भूकंप के झटकों को देश के कई राज्यों ने महसूस किया. लोग घरों, फ्लैट और दफ्तरों से बाहर निकल कर सुरक्षित जगहों पर पहुंचे. इससे कुछ कमजोर इमारतों और ढांचों को मामूली नुकसान भी पहुंचा.

Earthquake of 3.5 magnitude reported in Delhi-NCR

भूकंप के ये आंकड़ें नेशनल सीसमोलॉजी नेटवर्क की तरफ से पृथ्वी विज्ञान मंत्रालाय को दिए गए हैं. हालांकि भूकंपों पर नजर रखने वाली साइट वॉल्कैनो डिस्कवरी के अनुसार, पिछले 9 महीनों में भारत में कुल 239 भूकंप के झटके ही महसूस किए गए.

हाल ही में एक रिपोर्ट सामने आई थी, जिसके मुताबकि भारतीय टेक्टोनिक प्लेट हिमालयन टेक्टोनिक प्लेट की तरफ खिसक रही है. यही वजह रहा कि हमें इस गर्मियों में ज्यादा भूकंप के झटके महसूस हुए.

दुनियाभर के भूकंप के एक्सपर्ट्स और भूगर्भशास्त्रियों का मानना है कि इस समय धरती की टेक्टोनिक प्लेटें खिसक रही हैं, जिसके कारण इतने भूकंप आ रहे हैं.