यूरोपीय आयोग ने दी टिड्डियों को खाने के लिए मंजूरी, जाने पूरी जानकारी

अपने बरसात के मौसम में आने वाली में सबसे ज्यादा टिड्डियां के बारें में तो सुना ही होगा. कहते हैं की ये टिड्डियां फसलों और खेती को पूरी तरह से बर्बाद कर देती हैं. लेकिन अब आपको हम एक ऐसी खबर देने जा रहे हैं हैं जिससे सुनने के बाद आपको शायद यकीन न हो. और आप ये कह दे की ये क्या बकवास हैं. आपकों बताते हैं की इन टिड्डियो से छुटकारा पाने के लिए दुनिया में क्या क्या तरीके अपनाये जा रहे हैं.

पाकिस्तान के रास्ते आया टिड्डियों का दल भारत के लिए कितना बड़ा ख़तरा? - BBC  News हिंदी

बरसात एक ऐसा मौसम जो आपके दिल को ख़ुशी देता हैं लेकिन इस मौसम में आपके खेतो पर भी एक खतरा मंडराता हैं जो हैं टिड्डियो का खतरा… ये एक ऐसा खतरा हैं जो आपके खेतो को पल भर में बर्बाद कर देता हैं. लेकिन अब इससे निपटने के लिए यूरोपीय आयोग ने टिड्डियों को खाने के लिए मंजूरी दे दी है. इसकी इजाजत मिलने के बाद से अब इंसान नाश्ते में टिड्डियों का सेवन कर सकते हैं. आइए अब आपको हम बताते हैं की आखिर ऐसा क्यों हुआ है.
Wind changed the path of locusts and will move towards Pakistan alert in  Panna and Katni
 क्या कहना है यूरोपीय संघ का?
अब इंसानों के लिए टिड्डियों को खाना सुरक्षित है. आपको बता दें कीइस तरह से अब यूरोपियन यूनियन की अप्रूव्ड फूड लिस्ट में टिड्डियां भी जुड़ गई हैं. ये दूसरी बार हुआ है जब कीड़ों को खाने के लिए सुरक्षित माना गया है. इससे पहले जून में यूरोपियन यूनियन ने बीटल के यैलो मीलवर्म लार्वा को खाने के लिए अधिकृत किया था.

यूरोप में टिड्डे को भोजन के तौर पर किया गया शामिल, जानिए कैसे खाया जाता है  इसे, जल्द ही इस कीड़े का नंबर भी आएगा | Locusts Added to European Union's  Approved
 ऐसे होगा टिड्डियों का सेवन
यूरोपियन यूनियन ने कहा हैं कि आप टिड्डियों को नाश्ते के रूप में कहा सकते हैं या फिर आप इसे खाने के रूप में खा सकते है. इसके अलावा उन्होंने बताया की इन्हें सूखे या फ्रोजन रूप में उनके पंखों और पैरों को हटाकर या पाउडर बनाकर भी खाया जा सकता है.

टिड्डी दल के अटैक को लेकर यूपी में अलर्ट, किसान ऐसे बचाएं अपनी फसल | Zee  Business Hindi

टिड्डियों का खाने की परमिशन क्यों मिली ?

यूरोपीय फूड सेफ्टी अथॉरिटी का कहना है कि कीट प्रजातियों के वयस्क टिड्डों ‘माइग्रेटोरिया’ को बिना किसी सुरक्षा की चिंता के खाया जा सकता है. ऐसा इसीलिए है, क्योंकि इनमें प्रचुर मात्रा में प्रोटीन होता है. हालांकि टिड्डों का सेवन करने से उन लोगों को बचना चाहिए जिन्हें क्रस्टेशियंस, माइट्स और मोलस्क से एलर्जी हो क्योंकि इससे उनकी एलर्जी ट्रिगर हो सकती है.

What Do Locusts Eat? - Feeding Nature

ये पोषक तत्व मौजूद हैं टिड्डियों के अंदर
फूड एग्रीकल्चर ऑर्गनाइजेशन के अनुसार , इन कीड़ों में हाई फैट, प्रोटीन, विटामिन, फाइबर और मिनरल्स हैं और साथ ही इनकी अत्यधिक पौष्टिक और स्वस्थ खाद्य स्रोत के रूप में पहचान की गई.

Tiddiyon Ke Hamale Se Pareshaan Hai Kisan

हर साल होती हैं फसलें बर्बाद
आपको बताते चलें, टिड्डियां हर साल भारत सहित दुनिया के कई देशों में हजारों एकड़ फसलें बर्बाद कर देती हैं. ये आमतौर पर भारी बारिश होने पर पैदा होती हैं. ये टिड्डे कुछ ही घंटों में कई किलोमीटर की यात्रा करते हैं और हवा के रुख की ओर कहीं भी जा सकते हैं. ये ग्रुप बनाकर उड़ते हैं. इनके एक दल में तकरीबन 4 करोड़ टिड्डे शामिल होते हैं. ऐसे में जब ये फसल पर हमला करते हैं तो एक दिन में 35 हजार लोगों का एक दिन का खाना खा जाते हैं. अब आप अंदाजा लगा सकते हैं कि टिड्डे फसलों को किस हद तक नुकसान पहुंचाते हैं.

 

STORY BY – UPASANA SINGH