EWS कोटे पर बहस की मांग करेगी कांग्रेस, शीतकालीन सत्र में राहुल के बिना सरकार को घेरने की पार्टी ने बनाई है रणनीति

संसद का शीतकालीन सत्र बुधवार से शुरू होने जा रहा है.कांग्रेस ने सरकार को घेरने की पूरी तैयारी कर रखी है. हालांकि राहुल गांधी, समेत पार्टी के कई सांसद भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने की वजह से इस सत्र में भाग नहीं ले पाएंगे. कांग्रेस इस बार संसद में महंगाई, बेरोजगारी और ईडब्लूयएस आरक्षण का मुद्दा उठाने की बात कर रही है.शनिवार को पार्टी नेताओं ने शीतकालीन सत्र में अपनी रणनीति बनाने के लिए सोनिया गांधी के आवास पर बैठक कराई थी. पार्टी ईडब्ल्यूएस आरक्षण पर पुनर्विचार की मांग करेगी और संसद में बहस करना चाहेगी क्योंकि सुप्रीम कोर्ट के तीन जज संशोधन पर सहमत थे जबकि दो ने इसके बारे में सवाल उठाए थे.उन्होंने कहा कि जातिगत जनगणना करवाना जरूरी है और कांग्रेस इसके पक्ष में है. सरकार की 16 विधेयक पेश करने की योजना बनाई है बता दें संसद का शीतकालीन सत्र 7 दिसंबर से शुरू होकर 29 दिसंबर तक चलेगा. सरकार की योजना संसद के शीतकालीन सत्र में 16 नए विधेयक पेश करने की है जिनमें बहु-राज्यीय सहकारी समितियों में जवाबदेही बढ़ाने और चुनावी प्रक्रिया में सुधार से संबंधित विधेयक शामिल हैं. आगामी सत्र में राष्ट्रीय दंत चिकित्सा आयोग विधेयक भी पेश किए जाने की संभावना है. इस विधेयक में राष्ट्रीय दंत चिकित्सा आयोग की स्थापना और दंत चिकित्सक कानून, 1948 को निरस्त करने का प्रस्ताव है. इसके साथ ही राष्ट्रीय नर्सिंग आयोग संबंधी विधेयक भी पेश किए जाने की संभावना है जिसमें राष्ट्रीय नर्सिंग आयोग स्थापित करने एवं भारतीय नर्सिंग परिषद कानून 1947 को निरस्त करने का प्रस्ताव है.