मणिपुर-नागालैंड की सीमा पर स्थित दज़ुको घाटी के जंगलों में भीषण आग, बुझाने के लिए लगाईं गयी सेना

मणिपुर-नागालैंड की सीमा पर स्थित दज़ुको घाटी के जंगलों में भीषण आग लगी है। मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने इसका वीडियो ट्वीट करते हुए इसे बेहद दुभाग्यपूर्ण करार दिया है। आग इतनी भयानक है कि उसे नागालैंड की राजधानी कोहिमा से भी देखा जा सकता है।

इस आग को जंगली जानवरों के लिए भी बड़ा खतरा माना जा रहा है. मणिपुर और नागालैंड राज्य की सरकारों के अनुरोध पर भारतीय वायुसेना द्वारा Mi-17V5 विमान की तैनाती कर दी गई है, जिससे आग को काबू में करने की कोशिश की जा रही है.
मणिपुर के मुख्यमंत्री  एन बीरेन सिंह जो वीडियो पोस्ट किया है, उसमें साफ तौर पर जंगलों से धुआं निकलता दिख रहा है. संभावना है कि आज भारतीय वायु सेना के हेलीकॉप्टरों को इसे बुझाने में लगाया जा सकता है.

दज़ुको घाटी की गिनती “मणिपुर में सबसे सुंदर स्थानों में से एक” के रूप में होती है. यह घाटी फूलों की घाटी के रूप में भी जाना जाता है. इस आग से वहां की जैव विविधता और वाइल्ड लाइफ को भारी नुकसान पहुंचा है.
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने फोन करके दजुको घाटी के जंगलों में लगी आग की स्थिति की जानकारी ली। अमित शाह जी ने स्थिति को जल्द से जल्द काबू में लाने करने के लिए सभी आवश्यक सहायता प्रदान करने का आश्वासन दिया है।