पंचतत्व में विलीन हुए ‘फ्लाइंग सिख’ मिल्खा सिंह, नम आंखों से मिल्खा सिंह को दी गई अंतिम विदाई

दुनिया के बड़े-बड़े एथलीटों को धूल चटाने वाले भारत के ‘फ्लाइंग सिख’ कहे जाने वाले मिल्खा सिंह अब इस दुनिया में नहीं हैं. शनिवार शाम को उनका चंडीगढ़ में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया. इस दौरान चंडीगढ़ के मटका चौक स्थित शमशान घाट में केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू, पंजाब के गवर्नर और पंजाब के खेल मंत्री सहित दूसरे लोग मौजूद रहे. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने घर जाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी. पंजाब में मिल्खा सिंह के सम्मान में एक दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया है.

दुनिया में भारत का नाम करने वाले एथलीट मिल्खा सिंह का शुक्रवार की रात 11:30 बजे चंडीगढ़ पीजीआई अस्पताल में निधन हो गया. मिल्खा सिंह ने 91 साल की उम्र में अपनी अंतिम सांस ली. इसी सप्ताह की पत्नी निर्मल कौर का भी निधन हुआ था. दोनों कोरोना वायरस से संक्रमित थे. बता दें कि बीते दिनों ही मिल्खा सिंह कोरोना निगेटिव हुए थे, लेकिन अचानक से उनकी तबीयत नाजुक होने लगी इसके बाद उन्हें चंडीगढ़ के PGI अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां उनका निधन हो गया.पूरा देश आज उन्हें नम आखों से श्रद्धांजलि दे रहा है.