कोरोना वैक्सीन को लेकर अब अमेरिका से आई खुशखबरी,WHO ने बताया कब तक बाजार में आयेगा वैक्सीन

कोरोना महामारी के बीच दुनिया अब धीरे-धीरे इससे उबरने की ओर बढ़ रही है. कई देशों के वैज्ञानिकों को इसके दवा और वैक्सीन बनाने में कामयाबी मिल रही है. यही नहीं कई देशों में अलग-अलग तरह की वैक्सीन तैयार की जा रही है.
इस बीच अमेरिका की मॉडर्ना कंपनी की ओर से तैयार की गई कोरोना वैक्सीन को लेकर एक खुशखबरी सामने आई है.

मॉडर्ना कंपनी के मुताबिक, शुरुआती ट्रायल में पता चला है कि ये वैक्सीन बुजुर्ग मरीजों में भी इम्यून रेस्पॉन्स पैदा करती है. 56 साल से लेकर 70 साल के 10 लोग और 71 से अधिक उम्र के भी 10 लोगों को ट्रायल में शामिल किया गया था. सभी वॉलेंटियर्स को 28 दिन के अंतर पर 100mg की दो खुराकें दी गईं.

corona vaccineपहली Corona Vaccine रूस में लॉन्च, राष्ट्रपति पुतिन की बेटी  को लगा इस कोविड-19 वैक्सीन का पहला टीका russia first corona vaccine launched

कंपनी ने बताया कि वॉलेंटियर्स में न्यूट्रलाइजिंग एंटीबॉडीज मिलीं है और ये एंटीबॉडीज कोरोना वायरस की इम्यूनिटी के लिए जरूरी हैं. यही नहीं मॉडर्ना कंपनी के अनुसार, वॉलेंटियर्स में जो एंटीबॉडीज मिलीं है उनकी मात्रा कोरोना से ठीक हुए मरीजों के मुकाबले ज्यादा थीं. इसके साथ ही वैक्सीन की खुराक लेने वाले लोगों में कोई गंभीर साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिला है.

यहां आपकी जानकारी के लिए बता दे कि अमेरिका में कोरोना के कई वैक्सीन पर काम चल रहा है.लेकिन इनमें मॉडर्ना की वैक्सीन को सबसे बेहतर माना जा रहा है. इसका फेज-3 ट्रायल भी शुरू हो चुका है.

वही इधर विश्व स्वास्थ्य संगठन की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या विश्वनाथन ने बुधवार को कहा कि कोरोना की वैक्सीन को लेकर 2021 की शुरुआत तक कुछ अच्छी खबर मिलने की उम्मीद है.इसके साथ ही उन्होंने कहा की वैक्सीन के मामले में भारत अच्छी स्थिति में है क्योंकि यहां इस दिशा में कई कंपनियां काम कर रही हैं जिनमें कुछ अपने स्तर से तो कुछ साझेदारी में काम कर रही हैं.इसके साथ ही सौम्या ने इसके वितरण को लेकर कहा कि कोविड-19 के वैक्सीन का दुनियाभर में सही ढंग से वितरण बड़ी चुनौती साबित होगा. उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित करना होगा कि टीके के अधिकाधिक डोज अमीर देशों के पास न चले जाएं और इनका पूरी दुनिया में समान वितरण हो. हमें 2021 की शुरुआत तक कुछ अच्छी खबर मिल जानी चाहिए.

बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, दुनिया भर में कुल 170 वैक्सीन पर काम चल रहा है. ऐसे में अब विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी उम्मीद जताई है कि कोरोना की वैक्सीन जल्द ही आ सकती है..