10 रुपये में सरकार से पौधा खरीदने पर होगी अच्छी कमाई, योजना का उठाए लाभ

बिहार (Bihar) में हरित आवरण बढ़ाने के लिए पर्यावरण व जलवायु परिवर्तन विभाग (Department of Environment and Climate Change) के द्वारा योजना लाया गया है।  इस योजना के तहत हरियाली बढ़ाने के साथ—साथ किसानों की आमदनी भी बढ़ाने की प्लानिंग है। योजना के तहत किसानों को प्रति पौधा 10 रुपए की सुरक्षित राशि पर दी जाएगी। तीन सालों के लिए यह राशि होगी। तीन साल बाद किसानों को पुनः यह राशि दे दिया जाएगा।

क्या है कृषि वानिकी योजना (Agro Forestry Scheme)?

बता दें कि योजना के तहत किसान को जो पौधा मिलता है उनकी देखरेख करते हैं और 3 वर्ष बाद उनमें से 50 प्रतिशत से ज्यादा पौधा बचता है, तो उन्हें 60 रुपए प्रति पौधा के हिसाब से भुगतान किया जाएगा। हालांकि, इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को आवेदन (Application) देना होगा। इसमें उनको वन प्रमंडल, वन प्रक्षेत्र, जिला, प्रखंड और अपना नाम-पता, मोबाइल नंबर भरकर देना होगा।

इसके अलावा जमीन का भी खाता, खसरा, रकबा, रसीद नंबर आदि का ब्योरा देना होगा। इसका आवेदन किसान ग्रुप में भी कर सकते हैं। उनको यह जानकारी देनी होगी कि किस किस्म का पौधा, कितनी संख्या में लगाने की चाहत रखते हैं। पूरा फॉर्म भरकर अंतिम तारीख 30 जून तक आवेदन कर सकते हैं।

सुरक्षित राशि जमा करना

किसान इस योजना के तहत सुरक्षित जमा राशि संबंधित वन प्रमंडल पदाधिकारी से संपर्क कर जमा कर सकते हैं। उसके बाद आवेदन जमा करा सकते है। दरअसल, प्रशासन (Administration) पर्यावरण को सुरक्षित बनाए रखने के लिए लक्ष्य निर्धारित कर चुका है। साथ ही जागरुकता (Awareness) लाने के लिए भी अभियान चला रहा है।आवेदन वे मेल भी कर सकते हैं। इसका ई-मेल पता: hariyalimission@gmail.com है।

हरित भारत राष्ट्रीय मिशन

बता दें कि बिहार में हरियाली मिशन की शुरुआत साल 2012 में हुई इसके तहत 24 करोड़ पौधारोपण का टारगेट रखा गया इनमें से 22 करोड़ पौधे लगाए जा चुके हैं। जलवायु परिवर्तन पर आधारित राष्ट्रीय कार्य योजना के लिए संचालित 8 मिशन में से एक है, जिसमें पर्यावरण को सुरक्षित रखने हेतु लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं।  हरित भारत राष्ट्रीय मिशन के अंतर्गत जलवायु परिवर्तन से मुकाबला ऊर्जा के वैकल्पिक स्रोत तथा वन व वन्य जीवों की सुरक्षा का उद्देश्य सम्मिलित है। जागरूकता लाने में पर्यावरण एवं वन मंत्रालय भारत के प्राकृतिक सौंदर्य और स्वास्थ्य के प्रति तारतम्यता बनाने में जुटा है। हरित भारत अभियान के अंतर्गत 6 लाख हेक्टेटर वनीकरण का लक्ष्य है। इसके अंतर्गत देश के 33 क्षेत्रों को वन और पेड़ों से आच्छादित करना है।

बिहार में हरियाली मिशन

बिहार में हरियाली मिशन के तहत राज्य का हरित आवरण 15 से अधिक हो चुका है। अब इसे 17 से अधिक करने का लक्ष्य रखा गया है। क्ष्य रखा गया है कि इसे 17 से अधिक किया जाए। लिहाजा सरकार तेजी से पौधारोपण करने में जुटी हुई है। हरित भारत राष्ट्रीय मिशन (India National Mission) के तहत हरियाली बढ़ाने के साथ—साथ वन्य जीवों के संरक्षण पर भी कार्य कर रहा है। इस अभियान (Abhiyan) के तहत 6 लाख हेक्टेटर वन बनाने का लक्ष्य है। देश के 33 एरिया को इस योजना के तहत वन और पेड़ों को बढ़ाने का टारगेट है।