ट्रेन का परिचालन आरंभ कराने पर सरकार पहल करे-फेडरेशन चैंबर

झारखण्ड : राजधानी रांची समेत पूरे झारखण्ड से आवागमन में हो रही कठिनाईयों को लेकर आज फेडरेशन ऑफ झारखण्ड चैंबर ऑफ काॅमर्स एण्ड इन्डस्ट्रीज ने मुख्य सचिव को पत्राचार किया। यह कहा गया कि कोविड-19 की चुनौतियों से कुछ हद तक निपटने के उपरांत सरकार की अनुमति से अब प्रदेश में प्रायः सभी व्यापारिक व औद्योगिक गतिविधियों का संचालन प्रारंभ है किंतु आवागमन की सुगम उपलब्धता नहीं होने के कारण यात्रियों विशेषकर व्यापारियों को कठिनाईयां हो रही हैं। ज्ञातव्य है कि भारतीय रेलवे द्वारा यात्रियों की समस्या को देखते हुए 12 सितम्बर से 80 अतिरिक्त स्पेशल ट्रेनों का परिचालन शुरू किया गया है जिनमें झारखण्ड को महज दो ही ट्रेन (अगरतल्ला-देवघर एवं धनबाद-फिरोजपुर) मिलने से राज्यवासियों में निराशा हुई है।

 

चैंबर के रेलवे उप समिति चेयरमेन सह रांची रेल मंडल के डीआरयूसीसी सदस्य नवजोत अलंग ने कहा कि त्यौहारों का सीजन समीप है, जिस क्रम में राजधानी रांची समेत पूरे झारखण्ड से भारी संख्या में यात्रियों का आवागमन पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में होता है। इस ट्रेन की उपलब्धता से रांची से टाटा तक के यात्रियों को कोलकाता आने-जाने में आसानी होती थी। व्यवसायिक दृष्टिकोण से भी रांची और कोलकाता का संबंध अति महत्वपूर्ण है किंतु वर्तमान परिप्रेक्ष्य में राज्य से एक ओर जहां सीमित संख्या में वायुयान सेवाएं परिचालित हैं, बसों का आवागमन भी प्रतिबंधित है, वहीं रांची से कोलकाता के लिए ट्रेनों की अनुपलब्धता से यात्रियों को भारी कठिनाई हो रही है। राज्य से कोलकाता आने-जाने के लिए यात्रियों के समक्ष वर्तमान में केवल निजी वाहनों के माध्यम से आवागमन करना ही एकमात्र विकल्प है जो रेलवे की अपेक्षा काफी खर्चीला है और इसका वहन कर पाना सभी वर्ग के लिए संभव भी नहीं है। यह आग्रह किया गया कि वर्तमान में रांची से कोलकाता (क्रिया योगा एक्सप्रेस) का परिचालन शीघ्र प्रारम्भ कराने हेतु रेल मंत्रालय से आवश्यक समन्वय स्थापित करने की पहल करें। साथ ही वर्तमान में रांची से नई दिल्ली के लिए परिचालित रांची-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस को सप्ताह में 6 दिन परिचालित कराने की पहल की जाय। यदि रांची से इन ट्रेनों का परिचालन तत्काल प्रारंभ कराया जाय, तब अवश्य ही राजधानीवासियों की कठिनाईयों का समाधान संभव है। चैंबर ने इस हेतु रांची रेल मंडल के डीआरएम को भी पत्र प्रेषित कर समस्याओं के शीघ्र निपटारे का आग्रह किया है।