क्या भारत में भी ब्रिटेन का नया कोरोना वायरस आ चुका है?

ब्रिटेन से फैले नए कोरोना वायरस से पूरी दुनिया अब सावधान होने लगी है.इसके मद्देनजर ही भारत ने ब्रिटेन से आने वाली उड़ानों को बंद करने में देर नहीं की. लेकिन इस रोक से पहले ही ब्रिटेन से भारत आने वाले यात्रियों में से 29 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.ऐसे में यहां सवाल उठ रहा है क्या ये लोग नए कोरोना वायरस की चपेट में है? क्या भारत में भी ब्रिटेन का नया कोरोना वायरस आ चुका है? क्योंकि जब तक ब्रिटेन में इसका पता लगाया जाता और पूरी दुनिया को अलर्ट किया जाता है, तब तक बड़ी संख्या में लोग ब्रिटेन से भारत आ चुका थे?

Coronavirus New Strain: Are New Coronavirus Strains Cause For Concern What  Do We Know About It, Know All About - कोरोना का ये 'नया रूप' ज्यादा खतरनाक  है? जानें वायरस से जुड़े

इस सवाल का जवाब केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिया है. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा है कि जब तक प्रयोगशाला में प्रमाणित नहीं हो जाता, यह कहना सही नहीं होगा कि कोरोना का नया रूप भारत में आ चुका है.  यह बात कही है.

हालांकि कोरोना के नए प्रकार के बढ़ते रफ्तार को देखते हुए वैज्ञानिकों ने शंका जताई है कि ब्रिटेन से भारत पहुंचे आधे लोग नए कोरोना वायरस के शिकार हो सकते हैं. क्योंकि अब तक ब्रिटेन में 60 प्रतिशत लोग नए कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. ऐसे में वैज्ञानिकों का या शंका अगर सही होता है तो ये डर पैदा करने वाला है. इस हिसाब से ब्रिटेन से भारत पहुंचे 29 यात्रियों में से आधे में नए कोरोना वायरस होने की बात कही जा रही है. इनके सैंपल की जीनोम सीक्वेंसिंग से पता चलेगा कि भारत में ब्रिटेन से आया नया कोरोना वायरस आ चुका है या नहीं.

नए स्‍ट्रेन का खतरा, ब्रिटेन से लौट रहे कोरोना संक्रमितों की होगी जीनोम  सीक्‍वेंसिंग, देखें PICS | britain returning coronavirus positive genome  sequencing in india

इसके बावजूद भी डर इस बात का है कि इन यात्रियों से पहले ही नया कोरोना वायरस देश में न आ गया हो. दरअसल, पिछले 2-3 हफ्ते में ब्रिटेन से आए लोगों का टेस्ट नहीं हुआ था. अब राज्य सरकारों को उनकी खोजबीन के लिए कहा गया है. इसके मद्देनजर ही तमाम राज्य सरकारों ने नए कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए कड़े कदम उठाए हैं.

इसके साथ ही केंद्र सरकार ने सभी राज्यों को दिशा-निर्देश जारी करते हुए आगाह किया है कि अगर क्रिसमस और न्यू ईयर पर दशहरा और दीवाली जैसी लापरवाही होती है तो फिर से कोरोना वायरस हमलावर हो जाएगा. त्योहारों में भीड़ से भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है.