Health news: मौसम विभाग ने ऐसा क्यों कहा कि ज्यादा ठंडी में शराब का सेवन है बेहद खतरनाक ?

अभी से ही नए साल के जश्न की तैयारियां शुरू हो गई है.जश्न की तैयारियों में लोग इस मौके पर जमकर शराब पीते है. ऐसे में मौसम विभाग ने भीषण सर्दी के इस मौसम में शराब पीने को लेकर एडवाइजरी जारी की है और भीषण ठंड को लेकर आगाह करने के साथ ही शराब नहीं पीने की सलाह दी है.

मौसम विभाग के मुताबिक उत्तर भारत समेत पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और उत्तरी राजस्थान में 28 दिसंबर से गंभीर शीत लहर की संभावना है, जिससे फ्लू, जुकाम या नाक से खून निकलने जैसी तमाम बीमारियों की दिक्कते और बढ़ जाती है. ऐसे में एडवाइजरी में आगे कहा गया कि घर में बैठे-बैठे या नए साल की पार्टी में शराब पीना बहुत नुकसानदेह हो सकता है. इससे आपके शरीर का तापमान कम होता है. विभाग का कहना है कि शीतलहर के दौरान शराब पीना सेहत के लिए बहुत नुकसानदेह हो सकता है.

Does Drinking Alcohol Really Keep You Warm When It Is Cold Out? | सेहत की  खबर: ज्यादा सर्दी में शराब का सेवन है खतरनाक, जानिए मौसम विभाग ने ऐसा क्यों  कहा है?

वही मौसम विभाग ने कहा है कि ज्यादा ठंड होने पर विटामिन सी से युक्त फलों को खाएं, अपनी त्वचा को नरम यानी समय-समय पर मॉइस्चराइज करते रहे, ताकि कड़ाके की ठंड के प्रकोप से बचा जा सके.”

आमतौर पर ज्यादातर लोगों को यही लगता है कि सर्दी में शराब ठंड भगाने में सहायक होता है. लोगों ने ऐसी धारणा पाल रखी है कि शराब पीने से शरीर को गर्मी मिलती है. लेकिन यहां आपको बता दे कि ये धारणा बिलकूल गलत है. डॉक्टरों की मानें तो ठंड में शराब का अधिक मात्रा में सेवन करना, दिल के लिए बेहद हानिकारक साबित हो सकता है. इसके कारण न सिर्फ आपको सर्दी-जुकाम रहने का खतरा बढ़ जाता है बल्कि दिल का दौरा पड़ने का खतरा भी 30 प्रतिशत तक बढ़ सकता है.

विशेषज्ञों के मुताबिक, सर्दियों में रक्त नलिकाएं सिकुड़ जाती हैं, जिसकी वजह से हृदय को रक्त प्रवाह जारी रखने के लिए ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है. ऐसे में शराब का सेवन आपके दिल के लिए और भी खतरनाक हो जाता है.

How to use Lockdown as an oppportunity to overcome alcohol addiction Jagran  Special

हालांकि कई रिसर्च से ये बात सामने आई है कि ठंड में शराब पीने से थोड़ा गर्मी का एहसास होता है, लेकिन ये असल में शरीर के तापमान को बाहरी ठंड के बावजूद कम कर सकता है और हाइपोथरमिया के खतरे को बढ़ाता है. हाइपोथर्मिया वो मेडिकल कंडीशन होता है जब शरीर सामान्य से ज्यादा तेजी से हीट पैदा करता है, जिससे बॉडी का भीतरी तापमान कम होता चला जाता है.

इसके अलावा कुछ अध्ययन बताते हैं कि लगातार गर्माहट के लिए शराब पीने का असर नहीं सिर्फ कोर बॉडी टेम्प्रेचर को कम करता है बल्कि मस्तिष्क पर भी इसा बुरा असर पड़ता है. यहां ये भी बता दें कि ऐसा की ये आम धारणा है कि सेना में अफसर और जवान सर्दियों के दौरान जमकर शराब का सेवन करते हैं. जबकि हकीकत ये है कि सर्दियों में सैनिकों को शराब की सप्लाई पर बहुत ज्यादा नियंत्रण रखा जाता है.