डेंगू का कहर तेज, प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के हुए कान खड़े

हर साल की तरह इस साल भी देश में डेंगू का कहर जारी. डेंगू को लेकर प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग एक्टिव हो गयी हैं, बैठकों के माध्यम से डेंगू की रोकथाम की योजना बनाने में जुट गयी हैं. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में डेंगू की बीमारी अपना कहर बरपाने लगी है. दिल्ली में डेंगू के कारण इस साल पहली मौत हुई है.

Dengue Fever Causes, Symptoms And Treatment In Hindi - डेंगू से घबराए नहीं,  ऐसे लक्षण दिखने पर तुरंत कराएं ये टेस्ट और उपचार | Patrika News

अगर बात साल 2018 कि करे तो उसके मुकाबले इस साल डेंगू के सबसे ज्यादा मरीज मिले हैं. जानकारी के अनुसार, दिल्ली में पिछले एक सप्ताह में डेंगू के 243 मामलों की पुष्टि हुई है. इस साल कुल दिल्ली में डेंगू की चपेट में आए मरीजों की संख्या 723 हो गयी है. दिल्ली में केवल अक्टूबर के महीने की शुरुआत से अब तक डेंगू के 382 मामले सामने आ चुके हैं. पिछले महीने भी डेंगू के 217 मामले सामने आए थे. वही पिछले साल दिल्ली में डेंगू से एक मौत हुई थी.

Dengue Fever in Hindi (डेंगू बुखार): Dengue कारण, लक्षण, बचाव & Treatments

दिल्ली के अलावा आस पास के शहरों में भी डेंगू का प्रकोप देखने को मिल रहा है. उत्तर प्रदेश के नोएडा और गाजियाबाद में भी डेंगू ने पिछले पांच साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. उत्तर प्रदेश के नोएडा में 15 अक्टूबर तक डेंगू पीड़ितों की संख्या 193 पहुंच गयी और अभी भी अधिकारी नोएडा में डेंगू का कोई हॉटस्पॉट नहीं होने का दावा कर रहे हैं. इस बार डेंगू पीड़ितों की संख्या पिछले पांच साल के मुकाबले अधिक है. साल 2019 में सबसे ज्यादा 40 लोग डेंगू की चपेट में आए थे. अगर आंकड़ों पर नजर डाली जाये तो साल 2016 में 17, साल 2017 में 22, साल 2018 में 28, साल 2019 में 40 और साल 2020 में 28 डेंगू के मरीज मिले थे.

वायरस जनित बीमारियों से बचाएगा आयुर्वेद का यह नुस्खा! - Herbal Drug  Fifatrol Controls Viral infection dengue influenza TSTR - AajTak
यही कहानी गाजियाबाद की भी है. इस बार गाजियाबाद में डेंगू के मरीजों की संख्या 624 पहुंच चुकी है. हालात की गंभीरता को देखते हुए प्रशासन भी एक्टिव मोड में आ गया है.

 

STORY BY – UPASANA SINGH