Health Update : कोई कारण नहीं फिर भी अचानक गुस्सा आना, नींद न आना या दुखी हो जाना, जाने कारण

अक्सर कुछ लोगों में देखा जाता हैं की वें अजीबो गरीब हरकते करते हैं जैसे की मान लीजिये अचानक से उन्हें गुस्सा आता हैं या फिर अचानक से दुखी हो जाना बिना किसी कारण के. इन सब हरकतों के देख आप उस इन्सान के बारे शायद ये सोचते हो की इसका तो व्यवहार ही ऐसा हैं. लेकिन ऐसा नही होता हैं. हो सकता हैं की वो व्यक्ति होर्मोनल इम्बैलेंस से गुजर रहा हो. जी हां आज हम आपको बताएगें की होर्मोनल इम्बैलेंस क्या होता हैं और जब कोई इससे गुजरता हैं तब उसका कैसा व्यवहार होता हैं. 

इन 5 पुरुषों को मिलती हैं गुस्से वाली बीवी, कहीं आप तो नहीं इनमें शामिल? -  people-with-these-names-get-angry-wife - Nari Punjab Kesari

ये तो आप सभी जानते ही हैं की हार्मोंस हमारें शरीर में मौजूद कोशिकाओं और ग्रन्थियों में से निकलने वाले केमिकल्स होते हैं. जिसके कारण हमारे शरीर के दूसरे हिस्सो में मौजूद कोशिकाओं या ग्रन्थियां प्रभावित होती हैं. होर्मोन्स के अलग-अलग चरणों में जैसे प्रेग्नेंसी, पीरियड या मीनोपॉज से पहले तक शरीर में हार्मोनल का लेवल अलग-अलग हो सकता है. इसके आलावा इसका प्रभाव हमारे मेटाबॉलिज्म, इम्यून सिस्टम, रिप्रॉडक्टिव सिस्टम, शरीर के डिवेलपमेंट और मूड पर पड़ता है.

Harmful Habits For Metabolism, Tips For Healthy Metabolism - सावधान:  मेटाबॉलिज्म के लिए बेहद नुकसानदायक हैं ऐसी आदतें, तुरंत कर लें इनमें सुधार  - Amar Ujala Hindi News Live
अगर हम बात करे इससे जुडी समस्याओं के बारें में तो शरीर में हार्मोन से जुड़ी समस्याओं को समझ पाना हर किसी के लिए मुमकिन नहीं होता है. लेकिन अगर शरीर में हो रहे बदलावों पर आप बारीकी से नजर रखेगें तो इसकी पहचान आप आसानी से कर पायेगें. इसको लेकर डॉक्टर्स का कहना हैं कि शरीर में दिखने वाले कुछ लक्षण हार्मोनल इम्बैलेंस के बारे में बताते हैं.Hormonal imbalance Symptoms causes and treatment - Health Tips: जानें क्या  हैं होर्मोनल इम्बैलेंस के लक्षण और इससे बचने के लिए किन चीजों का करें सेवन

दवाएं और इलाज का होर्मोन्स पर असर

आपको बता दें की कुछ दवाएं भी होर्मोन्स को प्रभावित करती हैं इसके आलावा इलाज के कारण या फिर सेहत से जुड़ी समस्याएं भी शरीर में हार्मोन्स को प्रभावित कर सकती हैं.

 

होर्मोनल इम्बैलेंस के लक्षणweight loss tips: ज्‍यादा स्ट्रेस लेने से भी बढ़ जाता है कमर का साइज, जानें  बिना जिम जाए कैसे घटाएं अपनी 'Stress Belly' - Navbharat Times

• अचानक आपके वजन बढ़ना और कमर पर चर्बी आ जाना.

• हर समय शरीर का थका हुआ महसूस होना.

अगर आप भी दिन भर करते हैं थकान महसूस, तो इन संकेतों को न करें इग्नोर, हो  सकती है ये गंभीर बीमारी | Hari Bhoomi

• नींद का कम आना या फिर बिल्कुल नींद का न आना.

• गैस, कब्ज और बदहजमी जैसी दिक्कतों का होना.

Expert Tips to Avoid Stress and Irritability in Hindi | तनाव और चिड़चिड़ापन  से बचने के लिए जानें टिप्स | Onlymyhealth

• तनाव, चिंता और चिड़चिड़ापन का अचानक से बढ़ना.

• बहुत पसीना आना, सेक्स की इच्छा में कमी.

Causes And Ways To Reduce White Hair Naturally

• लड़कियों में बालों का झड़ना, असमय सफेद होना तथा लडको दाढ़ी का घनी ना आना.

• ज्यादा प्यास का लगना, ज्यादा ठंड या गर्मी लगना.

Know Your Personality By Mustache And Beard - दाढ़ी-मूंछ से भी जान सकते हैं  किसी भी व्यक्ति का स्वभाव, राज जानकर रह जाएंगे हैरान | Patrika News

इसके अलावा मांसपेशियों से जुड़ी दिक्कत भी हार्मोन में गड़बड़ी का संकेत हो सकती है.

Muscle Disease Causes and symptoms - कहीं आपको भी तो नहीं मांसपेशियों से  जुड़ी बीमारी, जानें लक्षण और कारण | Navbharat Times - Navbharat Times
साइकोलॉजिस्ट स्पेशलिस्ट टिम ग्रे ने कहा हैं कि हार्मोन से जुड़ी समस्या में इन्फ्लेमेशन को नजरअंदाज करना एक बड़ी भूल होती है. यह आपके इम्यून सिस्टम के साथ खिलवाड़ करती है और शरीर में कोर्टिसोल लेवल को बढ़ाने का काम करती है. बहुत ज्याद स्ट्रेस, खराब नींद, प्रोसेस्ड या शुगर फूड इस इन्फ्लेमेशन को बढ़ावा देने का काम करते हैं.अब आपको बताते हैं की अगर ये लक्षण आपको दिखाई देते हैं तो आप इसे रोकने के लिए आप क्या कर सकते हैं.

हार्मोनल इम्बैलेंस को रोकने के उपाय

फल एवं सब्जियों से पोषण सुरक्षा — Vikaspedia
• आप खाने में ताजे फल व सब्जियों जैसे गाजर, ब्रोकोली और पत्तागोभी की मात्रा बढ़ा दें.

• ग्रीन टी – इसमें थियानाइन प्राकृतिक तत्व पाया जाता है, जो की हार्मोन्स को संतुलित रखता है.

Diet Tips: कोरोना संकट में नाश्ते में खाना शुरू करें ओट्स और दही, इम्यून  सिस्टम होगा मजबूत, वजन होगा कम, खून की कमी होगी दूर

• ओट्स और दही को आहार में शामिल करें.

• शरीर में पानी की कमी न होने दें.

ऐसे करें सूरजमुखी के बीज का खाने में इस्तेमाल, ये होंगे फायदे - Benefits  and uses of sunflower seeds salad pasta sandwich in hindi

• सूरजमुखी के बीज, अंडे, सूखे मेवे और चिकन में ओमेगा 3 व 6 पाया जाता है, जो हार्मोन्स के संतुलन को बनाए रखते हैं. इसके आलावा आप

• नारियल पानी पिएं.

Skin Care Routine: What Happens To Your Skin, Hair and Body When You Drink  Coconut Water For One Month

हार्मोनल इम्बैलेंस को नियंत्रण करने के लिए या फिर हार्मोनल इम्बैलेंस की वजह से बढ़ने वाली इन्फ्लेमेशन को रोकने के लिए आपको नैचुरल डाइट, पर्याप्त नींद और खान-पान व नियमित एक्सरसाइज के लिए शेड्यूल तय करना बहुत जरूरी है. सूर्योदय के बाद नीली रोशनी को पूरी तरह ब्लॉक रखें. इससे शरीर में इन्फ्लेमेशन का स्तर कम करने वाले एंटीऑक्सीडेंट मेलाटोनिन का निर्माण होता है. इसी के साथ ही आप बेहतर नींद भी ले पाते हैं. अगर आपको तनाव मुक्त रहना हैं और इम्यून सिस्टम को बूस्ट को भी अच्छा रखना हैं तो इसके लिए आपको मेडिटेशनकरनी चाहिए.

STORY BY – UPASANA SINGH