Health Update : सर्दी को भगाने वाली ये तरकीब हो सकती हैं हानिकारक

जैसे ही ठण्ड का मौसम आता हैं तो कोल्ड, फ्लू और इंफेक्शन फैलने का खतरा काफी बढ़ जाता है. ऐसे में लोग ठण्ड से बचने के लिए गर्म कपड़े, गर्म पानी, चाय-कॉफी जैसी चीजों का सहारा लेते हैं. लेकिन क्या आपको पता हैं ठंड से राहत देने वाले ये नुस्खे आपके लिए कितनी मुस्किल पैदा कर सकते हैं. उदाहरण के लिए- देर तक गर्म पानी से नहाना भी आपके शरीर को नुकसान पहुंचा सकता हैं. तो चलिए आपको बताते हैं की ठण्ड में हमे कौनसी गलतियाँ करने से बचना चाहिए.

ठण्ड से बचने के लिए

Take a nice warm shower - List Land

अधिक समय तक गर्म पानी से नहाना

एक्सपर्ट की मानें तो ठंड के मौसम में अधिक समय तक गर्म पानी का शावर लेना सेहत के लिए अच्छा नहीं है. इससे हमारी बॉडी और दिमाग दोनों पर बुरा असर पड़ता है. दरअसल गर्म पानी हमारे शरीर में मौजूद केराटिन नाम के स्किन सेल्स को ख़त्म करता है. जिसके कारण त्वचा में खुजली, ड्रायेनस और रैशेस जैसी समस्या बढ़ जाती है.

Health Tips | Healthy Life Ideas | Health Care News | Home Remedies For  Health | Expert Weight Loss

ठण्ड में अधिक कपडें पहनना

जब सर्दी का मौसम हो तो हम खुद को गर्म रखने के लिए ज्यादा से ज्यादा कपड़े पहनते हैं, लेकिन क्या ये सही हैं? बिलकुल नहीं, ऐसा करने से आपकी बॉडी ओवरहीटिंग का शिकार हो सकती हैं. हमे सर्दियों में ज्यादा कपड़े पहनने से बचना चाहिए है. सर्दियों में ठंड लगने पर हमारा इम्यून सिस्टम व्हाइट ब्लड सेल्स प्रोड्यूस करता है, जो इंफेक्शन और बीमारियों से हमारी सुरक्षा करते हैं. जबकि बॉडी के ओवरहीट होने पर इम्यून अपना काम नहीं कर पाता है.

Overeating Side Effects: What happens to your body when you eat too much?

अधिक खाने का सेवन

सर्दियों में हमारे खाने की खुराक अचानक बढ जाती हैं. और हम बिना सेहत की परवाह किए, कुछ भी खाने लगते है. सर्दियों में ठंड से मुकाबले में शरीर की कैलोरी ज्यादा खर्च होती है. जिसकी भरपाई हम हॉट चॉकलेट या एक्स्ट्रा कैलोरी वाले फूड से करने लगते हैं. ऐसे में भूख लगने पर सिर्फ फाइबर वाली सब्जियां या फल खाने चाहिए.

जाने कैफीन हमारे शरीर के लिए किस प्रकार फायदेमंद है

कैफीन

सर्दी के मौसम में चाय और कॉफी से शरीर को गर्म रखने का नुस्खा अच्छा हैं. लेकिन शायद आप भूल रहे हैं कि बहुत ज्यादा कैफीन शरीर के लिए नुकसानदायक है. दिनभर में आपको 2 या 3 कप से ज्यादा कॉफी नहीं पीनी चाहिए.

क्या आप भी पीते हैं सिर्फ RO वाला पानी तो जान लें इसके भी नुकसान -  harmful-effect-of-ro-water - Nari Punjab Kesari

पानी कम पीना

सर्दियों में लोगों को प्यास कम ही लगती है. लेकिन इसका मतलब ये बिल्कुल नहीं कि ठंड में शरीर को पानी की जरूरत नहीं है. यूरीनेशन, डायजेशन और पसीने में पानी शरीर से बाहर आ जाता है. ऐसे में पानी न पीने के कारण बॉडी डीहाइड्रेट होने लगती है. इससे किडनी और डायजेशन में दिक्कत बढ़ सकती है.

Restless legs syndrome may raise cardiovascular death risk

सोने से पहले  

एक शोध के मुताबिक, रात को सोने से पहले हाथ और पैरों को ग्लव्स और जुर्राब से कवर रखना सेहत के लिए अच्छा होता है. स्लीपिंग क्वालिटी को इम्प्रूव करने के लिए ये नुस्खा काफी फायदेमंद माना गया है.

Sleep: गर्मी में नंगे सोने की आदत? लेकिन इसमें कोई फायदा नहीं है

आपका बेडटाइम रूटीन

सर्दी के मौसम में दिन छोटे हो जाते हैं और रात लंबी हो जाती है. ऐसी दिनचर्या से न सिर्फ सिर्काडियन साइकिल डिस्टर्ब होती है, बल्कि शरीर में मेटालोनिन हार्मोन (नींद दिलाने वाला हार्मोन) का प्रोडक्शन भी बढ़ जाता है. इससे झपकियां आने लगती हैं. सुस्ती चढ़ती है. इसलिए स्लीपिंग टाइम में ही अच्छे से नींद पूरी करने की कोशिश करें.

सर्दियों में धूप सेंकने के होते हैं कई शानदार फायदे, आज से ही धूप से कर लें  दोस्ती

बाहर जाने से बचना

सर्दियों के मौसम में ज्यादातर लोग ठंड से बचने के लिए घर से बाहर निकलना बंद कर देते हैं. ऐसा करने से आपकी सेहत का नुकसान हो सकता हैं. एक ही जगह पर घर में सिकुड़कर रहने से आपकी फिजिकल एक्टिविटी खराब होगी. मोटापा बढ़ेगा और सूर्य की किरणों से मिलने वाले विटामिन-डी भी नहीं मिल पाएगा.

Little Exercise Will Also Keep You Fit - थोड़ी सी एक्सरसाइज भी आपको रखेगी  तंदुरुस्त | Patrika News

एक्सरसाइज

ठंड में तापमान कम होने की वजह से लोग बिस्तर में ही पड़े रहते हैं. जिसके  फिजिकल एक्टिविटी शून्य होने लगती है और इस वजह से हमारा इम्यून सिस्टम सुस्त पड़ जाता है.

Iatrogenesis: How Health professionals hurt us | by KevinRedmayne | Medium

अपने आप से इलाज

इस मौसम में लोगों को अक्सर खांसी, जुकाम या बुखार की जैसी दिक्कत होती है. ऐसे में डॉक्टर से बिना किसी जांच के खुद से इलाज करना जानलेवा हो सकता है. ये किसी गंभीर बीमारी के लक्षण भी हो सकते हैं. इसलिए कोई भी दवा या नुस्खा आजमाने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

STORY BY – UPASANA SINGH