यूपी-बिहार में भारी तबाही, बिजली गिरने से 110 लोगों की मौत, अगले 72 घंटों के लिए अलर्ट

उत्तर प्रदेश और बिहार में मॉनसून की बारिश कहर बरपा रही है. पिछले दो दिनों में यूपी और बिहार में गरज के साथ भारी बारिश और बिजली गिरने से 110 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं लगभग 32 लोग घायल बताए जा रहे है. साथ ही व्यापक स्तर पर कई संपत्ति को भी क्षति पहुंची है.

पटना के आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक, बिहार में भारी बारिश और बिजली गिरने के कारण 83 लोगों की मौत हुई है. जबकि, 20 से अधिक लोग घायल हुए हैं, जिन्हें अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. वही उत्तर प्रदेश में गुरुवार को आकाशीय बिजली गिरने से कम से कम 24 लोगों की मौत हो गई और 12 घायल हो गए. वही राज्य में बुधवार को बिजली गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई थी.

मौसम विभाग के मुताबिक, बिहार के 38 जिलों में अगले 72 घंटों के दौरान गरज के साथ भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है. साथ ही राज्य के कई भागों में अगले 72 घंटों के दौरान भारी से अत्यंत भारी वर्षा होने और वज्रपात की संभावना जताई गई है.वहीं इस दौरान बाढ़ की आशंका वाले क्षेत्र उत्तरी बिहार में भारी से भारी बारिश हो सकती है.

बिहार सीएम नीतीश कुमार ने बिजली गिरने से मरने वालों के प्रति गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है और मृतकों के परिजनों को तत्काल चार-चार लाख रुपये अनुग्रह अनुदान देने के निर्देश दिये हैं. ऐसे ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी प्राकृतिक आपदा में लोगों की मौत पर दुख जाहिर करते हुए उनके परिजनों को चार-चार लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा की है. इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी और अमित शाह ने इस प्राकृतिक आपदा में लोगों के हुए मौतों पर दुख जताया है.

एक तरफ जहां मॉनसून की बारिश लोगों को भीषण गर्मी से राहत दे रही है तो वही दुसरी तरफ भारी बारिश के साथ बिजली गिरने से हो रही मौतें बहुत दुखी कर रही है.