दिल्ली एनसीआर में भारी बारिश! महाराष्ट्र में 164 लोगों की हो चुकी है मौत

दिल्ली-एनसीआर में आज (27 जुलाई, 2021) सुबह पानी गिरने के बाद कई इलाकों बुरी तरह जलमग्न हो गए, जिससे आवागमन के दौरान लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। सावन के तीसरे दिन राष्ट्रीय राजधानी के धौलाकुआं, इंडिया गेट, आईएसबीटी जैसे इलाकों में लोगों के घुटनों तक पानी भर गया राष्ट्रीय राजधानी में मंगलवार को मध्यम बारिश होने का पूर्वानुमान है जबकि अधिकतम और न्यूनतम तामपान 30 से 27 डिग्री के बीच रहने का अनुमान है। वहीं, दिल्ली में सोमवार को अधिकतम तापमान 33.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दिल्ली में आने वाले पूरे हफ्ते में बारिश की संभावना बनी हुई है. हल्की से मध्यम बारिश जारी रहेगी. ऐसे में अधिकतम तापमान में बड़ी गिरावट आएगी. लोगों को गर्मी से कुछ समय के लिए राहत मिलेगी. स्काईमेट के अनुसार अब आने वाले समय में तेज से मध्यम बारिश की संभावना बनी हुई है. सोमवार को बादल छाए रहने की वजह से अधिकतम तापमान में गिरावट तो रही लेकिन उसम ने लोगों को काफी परेशान किया.

वहीँ अगर बात महाराष्ट्र की करें तो 11 और शवों के बरामद होने के साथ ही बारिश संबंधी घटनाओं में मरने वालों की संख्या सोमवार को बढ़कर 164 तक पहुंच गई थी। इसी बीच, उत्तर भारत के कुछ स्थानों पर भारी बारिश दर्ज की गई जिसकी वजह से निचले इलाकों में जल जमाव देखने को मिला।
उत्तराखंड के पिथौरागढ़, बागेश्वर, नैनीताल, पौड़ी व देहरादून में मंगलवार को बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के अनुसार इन जिलों में मंगलवार को अत्यंत भारी बारिश के आसार हैं। शेष जिलों में भी भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना है।
मौसम विभाग की दी गई जानकारी के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में अगले 24 घंटे भारी बारिश होने के अनुमान के चलते अलर्ट जारी कर दिया है. वहीं, कई इलाकों में हल्की बारिश भी हो सकती है.
IMD ने हिमाचल प्रदेश में 30 जुलाई तक भारी बारिश की चेतावनी जारी की. हिमाचल प्रदेश के कई हिस्सों में सोमवार को हल्की से मध्यम बारिश हुई, जबकि मौसम विभाग ने 30 जुलाई तक राज्य में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।
शिमला मौसम विज्ञान केंद्र ने लोगों को किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए आने वाले दिनों में पहाड़ी राज्य में नदियों और अन्य जल निकायों के पास नहीं जाने की सलाह दी है।

मौसम पूर्वानुमान में बताया गया है कि राज्य के मौसम में आज से परिवर्तन होने की संभावना है। राज्य में आज से मानसून ज्यादा सक्रिय होगा। बंगाल की खाड़ी में एक चक्रवातीय क्षेत्र बन रहा है। इसके कारण 28 जुलाई तक एक दूसरा चक्रवातीय क्षेत्र बनेगा। इसका असर राज्य के मौसम पर देखने को मिलेगा। इसके कारण आज से लेकर 30 जुलाई तक राज्य में बारिश होने की संभावना है।