Flood in China: बाढ़ से तबाही का मंजर,करीब 60 साल के बाद पहली बार इतनी अधिक बारिश,433 नदियां उफान पर

कथित तौर पर दुनियाभर में जानलेवा कोरोना वायरस का संक्रमण फैलाने के बाद अब चीन इन दिनों प्रकृति के कहर से जूझ रहा है. यहां लगातार हो रही भारी बारिश के बाद आई बाढ़ ने तबाही मचा रखी है. बीते 6 दशकों में चीन ने इतनी अधिक बारिश पहले कभी नहीं देखी थी. लगातार हो रही तेज बारिश की वजह से यहां के तमाम शहर जलमग्न हो गए हैं.

इतना ही नहीं चीन में पिछले महीने आई बाढ़ की वजह से अब तक 140 से अधिक लोगों की मौत हो गई है या वे लापता हो गए हैं. इसके साथ ही अब तक 3.8 करोड़ से ज्यादा लोग इससे प्रभावित हुए हैं. साथ ही 28 हजार घरों को क्षति पहुंची है. चीन में जून के बाद से अब तक 433 नदियों का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर है और 33 नदियों का जल अभूतपूर्व स्तर पर है. 433 नदियों में जलस्तर बढ़ने की वजह से ही चीन ‘भयानक बाढ़’ का सामना कर रहा है. हालांकि राहत बचाव कार्य अभी भी जारी है और कई लाख लोगों को दूसरे स्थानों पर सुरक्षित भेज दिया गया है.

After virus, China's Hubei province at risk as floods hit Yangtze ...

जून महिने से चीन के अधिकांश हिस्सों में लगातार बारिश जारी है.अधिक बरसात के कारण चीन की सबसे लंबी नदी यांग्त्से में बाढ़ आ गई. साल 1961 के बाद चीन ने इस बार बारिश के सारे रिकार्ड तोड़ दिए है. इस रिकार्ड के मुताबिक चीन में 1961 के बाद से अब तक ऐसी बरसात पहले कभी रिकार्ड नहीं की गई थी. न ही उनके रिकार्ड में इस तरह की बरसात पहले कभी दर्ज की गई है.

बरसात के बाद आलम ये हो गया है कि यहां सड़कों पर लोग नाव में सवार दिख रहे है. यही नहीं सड़क पर खड़ी कारें पूरी तरह से पानी में डुबी हुई नजर आ रही है. इस बाढ़ के कारण चीन के कुछ प्रमुख शहरों के हालात बहुत अधिक खराब हैं. यहां पानी को रोकने के लिए मिट्टी की अस्थायी दीवारें बनाई जा रही है. चीन के तमाम शहरों के कई बड़े पर्यटक स्थल भी इस बाढ़ की वजह से प्रभावित हुए हैं.

जानकारी के मुताबिक, बाढ़ की वजह से चीन को अब तक 8 अरब डॉलर से भी अधिक का नुकसान हो चुका है. ऐसे में कोरोना महामारी से हुए लॉकडाउन और विदेशी बाजारों को खोने से पैदा हुए नुकसान की वजह से पहले से ही दबाव झेल रही चीनी अर्थव्यवस्था पर बाढ़ से हुए नुकसान से स्थिति और भी खराब हो गई है. चीन का इन चीजों के उबर पाना  एक अलग चुनौती बन गया है.