लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ही क्यों होंगे अगले सेना प्रमुख?

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (Lieutenant General Manoj Mukund Naravane) देश के अगले सेना प्रमुख (Army Chief) होंगे। मौजूदा सेना प्रमुख बिपिन रावत का कार्यकाल 31 दिसंबर 2019 को ख़त्म हो जाएगा और उसी दिन नरवणे अपना कार्यभार संभालेंगे। लेफ़्टिनेंट नरवणे फ़िलहाल सेना के उप प्रमुख हैं।

सरकार ने लेफ्टिनेंट जनरल एम.एम. नरवणे को अनुभव के आधार पर अगला आर्मी चीफ चुना है। वर्तमान में सेना प्रमुख बिपिन रावत के बाद नरवणे सेना में सबसे सीनियर अधिकारी हैं। नरवणे भारतीय सेना में अप्रैल 2022 तक अपनी सेवाएं देंगे।

Image result for लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद होंगे देश के अगले थल सेना प्रमुख

सेना प्रमुख बनाए जाने पर जनरल एमएम नरवणे ने कहा है कि ‘इस फैसले से मैं काफी खुश हूं। मेरे लिए ये गर्व की बात है कि मुझे ये जिम्मेदारी दी गई है। मेरी पूरी कोशिश होगी कि मैं अपनी जिम्मेदारियों को अच्छे से निभा सकूं। ‘

1 सितंबर 2019 को लेफ्टिनेंट जनरल एमएम नरवणे ने भारतीय सेना के उप प्रमुख का पदभार ग्रहण किया था। इसके पहले वो सेना के उत्तरी कमांड के प्रमुख थे। नरवणे ने सेना में अपने 4 दशक के कार्यकाल में कई चुनौतीपूर्ण जिम्मेदारियों को बखूबी निभाया है।

Image result for लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद होंगे देश के अगले थल सेना प्रमुख

उन्होंने कश्मीर से लेकर नॉर्थ ईस्ट राज्यों में अपनी तैनाती के दौरान आतंकी गतिविधियों को रोकने में अहम भूमिका निभाई है। नरवणे श्रीलंका में 1987 के दौरान चलाए ऑपरेशन पवन में पीस कीपिंग फोर्स का हिस्सा रह चुके हैं।

लेफ़्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नरवणे की पत्नी वीना नरवणे एक शिक्षिका हैं और उनकी दो बेटियां हैं।