हाईकोर्ट ने छठीं जेपीएससी मेरिट लिस्ट किया रद्द

रांची: झारखंड हाईकोर्ट ने छठीं जेपीएससी मामले में बड़ा फैसला सुनाया है। छठीं जेपीएससी की मेरिट लिस्ट रद्द कर दी गयी है। इससे 326 अभ्यर्थियों की नियुक्ति अवैध घोषित हो गयी है। मेरिट लिस्ट को रद्द करते हुए कोर्ट ने आठ सप्ताह में फ्रेश मेरिट लिस्ट निकालने का आदेश दिया है। हाईकोर्ट ने सभी याचिकाओं को चार श्रेणियों में विभाजित किया था।
तीन श्रेणी की याचिका को अदालत ने खारिज कर दिया है। चौथी श्रेणी की याचिका को हाईकोर्ट ने मंजूर कर लिया है। कोर्ट ने मेरिट लिस्ट को रद्द करते हुए नई मेरिट लिस्ट जारी करने का आदेश दिया है। अदालत ने कहा कि राज्य सरकार को इस मामले में संज्ञान लेते हुए जेपीएससी की ओर से जारी अंतिम परिणाम में गलती करने वाले अधिकारियों के खिलाफ जांच करते हुए कार्रवाई करना चाहिए। झारखंड हाई कोर्ट के न्यायाधीश संजय कुमार द्विवेदी ने यह फैसला सुनाया है।
उल्लेखनीय है कि हाईकोर्ट के इस फैसले पर झारखंड समेत अन्य राज्यों के हजारों अभ्यर्थियों का भविष्य टिका हुआ है। परीक्षा देने वाले लाखों अभ्यर्थी हाईकोर्ट के फैसले का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। सभी पक्षों की ओर से बहस पूरी होने के बाद झारखंड हाईकोर्ट ने फरवरी महीने में अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।