प्रियंका वाड्रा के लखीमपुर पहुंचने से पहले लगी होर्डिंग, सिखों के हत्यारों से नहीं चाहिए सहानुभूति

लखनऊ: कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा के लखीमपुर पहुंचने से पहले ही उत्तर प्रदेश के सिख समाज ने 1984 का दंगा याद दिलाकर आईना दिखाया है। लखीमपुर और सीतापुर के मार्गों पर कई जगहों पर होर्डिंग लगाकर कांग्रेस को कटघरे में खड़ा किया है। सिख समाज के अलग-अलग लोगों की तरफ से लगाई गई होर्डिंग में नाम लिए बगैर कांग्रेस पर तीखा प्रहार हुआ है।

मालूम हो कि लखीमपुर में तीन अक्टूबर को घटना के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा, कांग्रेस शासित प्रदेशों छत्तीसगढ़ और पंजाब के मुख्यमंत्री, नवजोत सिंह सिद्धू समेत कई अन्य कांग्रेसी नेता वहां जा चुके हैं। अब एक बार फिर प्रियंका गांधी मंगलवार को लखीमपुर पहुंचने वाली थीं। इसी बीच सिख समाज की तरफ से होर्डिंग लगाकर कांग्रेस को ही कटघरे में खड़ा किया गया है।

उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य सरदार परविंदर सिंह की होर्डिंग में नहीं चाहिए फर्जी सहानुभित। इसके आगे लिखा है कि ‘खून से भरा है दामन तुम्हारा, तुम क्या दोगे साथ हमारा, नहीं चाहिए साथ तुम्हारा’। साहेब श्री गोविन्द सिंह सेवा समिति के अध्यक्ष सरदार त्रिलोचन सिंह ने होर्डिंग लगाकर कहा है कि 1984 के दंगों के जिम्मेदारों से लखीमपुर के किसानों को सहानुभूति नहीं चाहिए। इसी प्रकार जगह-जगह होर्डिंग लगाकर कांग्रेस का विरोध किया गया है। स्थानीय स्तर पर लखीमपुर में इस मुद्दे पर राजनीति करने वालों का विरोध हो रहा है।