यास से कितना होगा तबाही? इससे निपटने के लिए तौयारियां कैसी?जानें सबकूछ

कोरोना महामारी से जूझते भारत में नई मुसीबतें लगातार सामने आ रही है. हाल ही में देश ने तूफान तौकते का सामना किया है. तूफान तौकते के कारण देश के कई इलाकों में भारी तबाही देखने को मिली थी. अभी इस तूफान का असर कम भी नहीं हुआ था कि अब ‘यास तूफान’ का खतरा मंडराने लगा है. देश के पूर्वी तटीय क्षेत्रों में चक्रवाती तूफान यास का खतरा मंडरा रहा है.

Cyclone Yaas: Meaning, pronunciation of name, country that named the storm

मौसम विभाग के मुताबिक, साइक्लोन यास आज यानी 24 मई को ही अति शक्तिशाली रूप ले लेगा. आज 24 मई को ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में यास तूफान के दस्तक देने की संभावना मौसम विभाग ने जताई है. यास तूफान के अगले 24 घंटें में वेरी सेवियर साइक्लोन में तब्दील होने की संभावना है. ऐसे में ओडिशा, बंगाल और आसपास के राज्यों में अलर्ट जारी कर दिया गया है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार चक्रवात यास 26 मई की शाम तक पश्चिम बंगाल और उत्तरी ओडिशा के तटीय इलाकों से टकराएगा. इस दौरान हवा की स्पीड 155-165 किमी प्रति घंटे रह सकती है. इस दौरान भारी से बहुत ज्यादा भारी बारिश की संभावना भी जताई गई है. ऐसे में चक्रवाती तूफान यास से निपटने के लिए तैयारियां जारी हैं. खुद इससे निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समीक्षा बैठक भी की है.

Cyclone Yaas to form over Bay of Bengal on Monday: All you need to know  about places likely to be hit, preparedness-India News , Firstpost

तूफान यास से निपटने के लिए NDRF की टीमे पश्चिम बंगाल और ओडिशा में संभावित खतरे वाले क्षेत्रों में तैनात की जा रही हैं. इसके खतरे को देखते हुए ओडिशा सरकार ने तटीय जिलों में हाई अलर्ट जारी कर दिया है. पश्चिम बंगाल सरकार ने तूफान के मद्देनजर सभी एहतियाती कदम उठाए हैं. बाढ़ राहत एवं बचाव की टीमों के अलावा गोताखोरों की टीमों को भी ओडिशा और पश्चिम बंगाल में भेजा गया है.

इस तूफान के खतरे को देखते हुए भारतीय वायुसेना भी सक्रिय है. वायुसेना ने NDRF की टीमों को एयरलिफ्ट किया है. 26 हेलिकॉप्टर को स्टैंड बाय पर भी रखा गया है, जो जरूरत पड़ने पर मदद कर सकते हैं. इन सबके अलावा नौसेना की तरफ से भी पूरी तैयारी की गई है. तटीय इलाकों में लोगों को तूफान के खतरों से अवगत कराने के लिए लगातार प्रशासन अनाउंसमेंट कर रही है. तूफान के अलर्ट के बाद भारतीय रेलवे ने भी नई दिल्ली से पुरी और भुवनेश्वर जाने वाली कई ट्रेनों को रद्द कर दिया है.

cyclone yaas alert landfall date ndrf bengal odisha latest weather news  updates | India News – India TV

बंगाल और ओडिशा के अलावा इस गंभीर तूफान का प्रभाव उत्तर भारत के ज्यादातर राज्यों में पड़ सकता है. चक्रवात ‘यास’ का असर 28 मई से पहले बिहार व पूर्वी उत्तर प्रदेश में दिखेगा. इसके मद्देनजर मौसम विभाग ने उत्तर प्रदेश के 27 जिलों में 24 से 28 मई के बीच तूफान की चेतावनी दी है. इस तूफान के प्रभाव से झारखंड भी अछूता नहीं रहेगा. आज से धनबाद और पड़ोसी जिलों में तूफान यास का असर शुरू हो जाएगा. मौसम विभाग रांची ने इसकी चेतावनी जारी की है.