अगर आप हो जाए टेंशन मुक्त तो जी सकते हैं 150 साल तक! जानिये शोध में क्या निकला

जिन्दगी जीने की चाह किसे नही होती…लेकिन जिन्दगी ही छोटी हो गयी है. हमारी उम्र कम हो गयी है.. लेकिन एक शोध में ये बात सामने आई है कि अगर आप सिर्फ एक मुसीबत से मुक्ति पा लें तो आज भी आप लगभग डेढ़ सौ साल जी सकते हैं..

आज जहाँ लोगों की औसत आयु ही 60 वर्ष हो चुकी है तो 150 साल तक जीना एक सपना जैसा लगता है लेकिन नेचर कम्यूनिकेशन्स में प्रकाशित हुए एक शोध के मुताबिक़ हत्या, कैंसर और जानलेवा दुर्घटनाओं के अलावा आजकल लोगों की मौत का बड़ा कारण मुसीबतों से उबर पाने की क्षमता को खो देना है. इस अध्ययन को सिंगापुर की जेरो नाम की कंपनी ने बफौलो न्यूयॉर्क में रोसवेल पार्क कॉम्प्रीहेंसिव कैंसर सेंटर के साथ किया था

एक शोध में ये बात सामने आ चुकी है कि जैसे जैसे उम्र बढती जाती है बीमारी और तनाव से लड़ने की शक्ति कम होती जाती है. साइंटिफिक अमेरिकन की रिपोर्ट के अनुसार इस अध्ययन में पाया गया कि 80 साल का व्यक्ति तनावों से उबरने में 40 साल के व्यक्ति से तीन गुना ज्यादा समय लेता है.

सीनेट की रिपोर्ट के मुताबिक यह शोध का अनुमान है कि करीब 120 से लेकर 150 साल की उम्र के बीच इंसान बीमारी और तनाव से उबर पाने की क्षमता को पूरी से खो देते हैं. ऐसा उन लोगों में भी पाया गया  जिन्हें कोई बड़ी बीमारी नहीं थी.

तनाव और बीमारी से लड़ने की शक्ति कम होने से ही इंसान जल्द ही दुनिया को अलविदा कह देता है. तनाव से लड़ने की शक्ति और बीमारी से लड़ने मे असमर्थ होने पर ही इन्सान  की मौत हो जाती है.. ऐसा होने के पीछे जीवनशैली में आया बदलाव एक बड़ी वजह हो सकती है.

बुजुर्गों में तनाव और बीमारी से लड़ने की शक्ति कम हो जाती है.. यही वजह है कि इंसान की मौत अब जल्दी हो जाती है.. अगर इन दोनों पर कोई व्यक्ति कंट्रोल कर लेता है शरीर को बीमारी और तनाव से लड़ने लायक बना लेता है तो वो करीब 150 साल तक जिन्दा रह सकता है.