अगर आप प्रकृति से प्यार करोगे तो प्रकृति अपने अनंत संसाधनों से आपकी रक्षा करेगी : जेपी शूर

रामगढ़: चलो इस धरती को रहने योग्य बनाएं। सभी मिलकर विश्व पर्यावरण दिवस मनाएं। उक्त बाते डीएवी काॅलेज मैनेजिंग कमिटी नई दिल्ली निदेशक डाॅ जे.पी. शूर ने रामगढ़ के बरकाकाना डीएवी परिसर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान कही। उन्होंने कहा कि अगर आप प्रकृति से प्यार करोगे तो प्रकृति अपने अनंत संसाधनों से आपकी रक्षा करेगी। लेकिन आधुनिक युग में हमने प्रकृति से साथ खिलवाड़ किया है। धरती का सीना चीर कर उसके संसाधनों का गलत तरीके से दोहन किया है। इसके अतिरिक्त हमें जीवन देने वाले पेड़-पौधों को भी हमने अपनी सुविधााओं के लिए दोहन किया है।

वृक्ष पर्यावरण, जलवायु एवं वातावरण को शुद्ध एवं स्वच्छ बनाता है। जो हमारे दैनिक जीवन से न सिर्फ संबंध रखता है बल्कि उसे प्रभावित भी करता है। विश्व पर्यावरण दिवस हमें इस बात की याद दिलाता है कि हमें अपनी प्रकृति से प्रेम करना चाहिए। पेड़ पौधों को अपनी सुख-सुविधाओं के लिए नष्ट नहीं करना चाहिए। हर व्यक्ति को यह समझना होगा कि जब पर्यावरण स्वच्छ रहेगा तभी इस धरती पर हमारा जीवन संभव हो पाएगा। तभी हम कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से भी मुक्त हो पाएंगे। इस कोरोना महामारी ने हमें यह सबक सिखाया है। आज हमें जो ऑक्सीजन की भारी भरकम कमी देखने को मिल रही है वह पेड़ पौधे को अंधाधुंध काटने का परिणाम है।

 इस कार्यक्रम में सभी स्कूल के प्रधानाचार्य एवं अध्यापक ने भी बढ़चढ़ कर भाग लिया। इस मौके पर डीएवी बरकाकाना के प्राचार्य डॉ उर्मिला सिंह ने उनका स्वागत भी किया।