रणजीत सिंह हत्याकांड में 19 साल बाद इंसाफ, गुरमीत राम रहीम समेत 5 दोषियों को उम्रकैद 

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख बाबा गुरमीत राम रहीम को हत्या के एक मामले में सोमवार को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है. इसके अलावा, चार अन्य को भी उम्रकैद की सजा सुनाई गई है. ये फैसला पंचकुला की CBI कोर्ट ने सुनाया है. कोर्ट ने राम रहीम पर 31 लाख का जुर्माना भी लगाया है जबकि बाक़ी आरोपियों को 50-50 हज़ार का जुर्माना देने के लिए कहा गया है. हत्या मामले में एक और आरोपी की एक साल पहले मौत हो गयी थी.

Cbi Court Sentenced Ram Rahim To Life Imprisonment In Ranjit Singh Murder  Case - रणजीत सिंह हत्याकांड: राम रहीम समेत पांचों दोषियों उम्रकैद की सजा, 19  साल बाद परिवार को मिला ...

बता दें कि राम रहीम व अन्य को साल 2002 में पूर्व डेरा मैनेजर रणजीत सिंह की हत्या के मामले में 8 अक्टूबर को दोषी ठहराया गया था.पूर्व डेरा प्रबंधक रणजीत सिंह की 2002 में गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. एक अज्ञात पत्र प्रसारित करने में संदिग्ध भूमिका के चलते उसकी हत्या की गयी थी. इस पत्र में बताया गया था कि डेरा प्रमुख डेरा मुख्यालय में किस प्रकार महिलाओं का यौन शोषण करता है.

सजा के ऐलान से पहले हरियाणा के पंचकूला जिले में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करते हुए धारा-144 लागू कर दी गई. क्योंकि अगस्त 2017 की हिंसा को देखते हुए राम रहीम से जुड़े किसी भी मामले में सुनवाई या फिर सजा के ऐलान से पहले सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ा दिया जाता है. साल 2017 में बलात्कार के एक मामले में राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के बाद 36 लोग मारे गए थे. इसलिए इस बार सजा के एलान से पहले सुरक्षा के कड़े इंतेजाम किए गए थे.