जानिये झारखंड के हालत, कहाँ कितने मरीज और कितने मरीजों की मौत?

हिंदपीढ़ी के आजाद बस्ती के जिन सात लोगों का सैंपल लिया गया था, सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई, दरअसल, इस परिवार के एक सदस्य जिसकी पत्नी की डिलीवरी सदर अस्पताल में हुई थी, वह पॉजिटिव मिली थी, इसके बाद उस दंपती के पॉजिटिव आने की खबर से ही स्थानीय लोगों ने उनके परिजनों को होम क्वारैंटाइन रहने कहा था. इस परिवार के अलावा उस भवन में 8 अन्य किराएदारों को भी घर पर ही रहना पड़ रहा था.

रांची नगर निगम ने अपने कर्मचारियों व निगम कार्यालय में आने वाले आम लोगों की थर्मल स्कैनर से जांच कराने की व्यवस्था की है. 30 अप्रैल से निगम कार्यालय आने वाले सभी कर्मचारियों और लोगों की थर्मल स्कैनर से जांच की जाएगी. हैंड सेनिटाइजेशन भी कराया जाएगा। इसके बाद ही कार्यालय के अंदर जाने दिया जाएगा. नगर आयुक्त के निर्देश पर निगम के पीछे के द्वार को बंद कर दिया गया है। सिर्फ मुख्य द्वार से ही लोगों का प्रवेश होगा/

चीफ स्टेट नोडल अफसर एपी सिंह गुरुवार को बैठक करेंगे/ इसमें प्रवासियों को लाने का प्रोटोकॉल तय होगा/ केंद्र से छूट के बाद दूसरे राज्यों में फंसे झारखंडियों को घर लाने की पहल राज्य सरकार ने शुरू कर दी है. करीब 5 लाख मजदूरों और 5000 छात्रों की वापसी के लिए सरकार ने बुधवार को 15 आईएएस अफसरों को नोडल अफसर बनाया है.

  • राज्य में कुल 108 संक्रमित: रांची के 79, बोकारो 10, पलामू 03, हजारीबाग 03, गढ़वा 03, धनबाद 02, गिरिडीह, 02, सिमडेगा 02, देवघर 02 और जामताड़ा में 02 मरीज में कोरोनावायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है.
  • राज्य में अब तक 04 की मौत: रांची में तीन जबकि बोकारो के एक मरीज की मौत हो चुकी है.
  • राज्य में स्वस्थ्य हुए 20 मरीज: रांची में सात, बोकारो में पांच, धनबाद में दो, हजारीबाग में दो जबकि राज्य के अन्य जिलों से संक्रमित मरीजों में 04 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं.