झारखंड में कोरोना से हुई पहली मौत, जानिये ताजा अपडेट

झारखंड में कोरोना वायरस अपना कहर बरपाना शुरू कर दिया है. एक के बाद एक सामने आ रहे नए कोरोना संक्रमण के मामलों ने सबको परेशान कर दिया है. झारखंड में कोरोना संक्रमित रोगियों की संख्या एक दिन में ही तिगुनी हो गई है, जबकि बोकारो में कोरोना संक्रमित एक बुजुर्ग की मौत हो गई है। रोगियों में दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात के मरकज में आयोजित धार्मिक कार्यक्रम से लौटे लोगों की भी अधिक संख्या है। झारखंड के स्वास्थ्य सचिव नितिन मदन कुलकर्णी ने यह जानकारी दी।

राज्य में कोरोना से पहली मौत बोकारो के गोमिया प्रखंड में साड़म में बृहस्पतिवार सुबह हुई। एक 72 वर्षीय वृद्ध की कोरोना संक्रमित होने का पता चलने के कुछ घंटे बाद ही मौत हो गई।दूसरी ओर बोकारो में ही बांग्लादेश और फिर दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात के मरकज में गई कोरोना संक्रमित महिला की दो पोतियां और उसका देवर भी कल देर रात कोरोना संक्रमित पाए गए। वहीँ रांची में तब्लीगी जमात में शामिल होकर लौटे लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण मिला है इस प्रकार रांची में मरीजों की संख्या सात हो गयी है.

राज्य में अब तक कोरोना संक्रमित पाये गये 13 लोगों में 12 का कहीं न कहीं से दिल्ली में निजामुद्दीन मरकज से संबंध पाया गया है, जिसके चलते राज्य प्रशासन सतर्क हो गया है और जमात के शेष लोगों से शीघ्रातिशीघ्र सामने आकर जांच करवाने की अपील की गई है। झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने बृहस्पतिवार को कहा कि राज्य सरकार कोरोना वायरस संक्रमण की जांच में तेजी लाने की जरूरत के बीच रांची के इटकी में और धनबाद के पाटलीपुत्र मेडिकल कालेज अस्पताल (पीएमसीएच) में दो नई प्रयोगशालाएं स्थापित करने में जुटी है

पूर्व मुख्यमंत्री दास ने एक बयान में केन्द्र सरकार का धन्यवाद देते हुए कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार ने राज्य आपदा राहत कोष के तहत शनिवार को झारखंड को 284 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता देने की घोषणा कर दी है जिसे योजनाबद्ध तरीके से स्वास्थ्य और आवश्यक सेवाओं में राज्य सरकार को खर्च करना चाहिए.

वहीँ पर्यावरण पोस्ट आपको आगाह करता है कि किसी भी तरह की आपत्तिजनक और भ्रामक ख़बरों को ना ही शेयर करे और ना ही सोशल मीडिया प्लेटफोर्म पर शेयर करे. ऐसा करने पर आप कार्रवाई हो सकती है. झारखंड की राजधानी रांची की पुलिस ने कुछ आपत्तिजनक ट्विटर पोस्ट की पहचान कर लगभग 50 लोगों को इसके खिलाफ नोटिस भेजा है।दुर्भावनापूर्ण सूचना फैलाने के आरोप में  तीन लोगों पर एफआईआर भी दर्ज की गई है। रांची पुलिस ने कहा है कि इस समय कोई भी सौहार्द बिगाड़ने और नफरत फैलाने का प्रयास करता है तो उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता, आईटी अधिनियम और महामारी अधिनियम के तहत प्रशासन कार्रवाई करेगा