झारखंड में कोरोना से बचाव के लिए नयी गाइडलाइन जारी, इन नियमों का पालन नहीं हुआ तो होगी कार्रवाई

झारखंड में कोरोना संक्रमण के बढ़ती रफ्तार ने एक बार फिर से चिंता बढ़ा दी है। बीते 50 दिनों में पहली बार संक्रमितों की संख्या 100 के ऊपर पहुंची है. कोविड संक्रमण के सबसे ज्यादा 63 एक्टिव केस रांची (Ranchi) में हैं।  राज्य में पिछले एक सप्ताह के दौरान कोरोना संक्रमण के नये मामलों में बढ़ोतरी के मद्देनजर झारखंड सरकार की ओर से मंगलवार को नया गाइडलाइन जारी की गई है। कई दिशा-निर्देश और एहतियाती कदम उठाने को लेकर निर्देश जारी किया गया है। इसके तहत राज्य में बंद कमरों, कार्यालय और पब्लिक ट्रांसपोर्ट से सफर करते वक्त फेस कवर या मास्क लगाना जरूरी कर दिया गया है।इस बीच झारखंड सरकार ने 27 महीने बाद कोरोना से संबंधित सभी तरह की गतिविधियों को सशर्त अनुमति दे दी है। 

हर जगह सोशल डिस्टेंसिंग, पब्लिक प्लेस पर थूकना वर्जित

वहीं हर जगह सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्य कर दिया गया है। जबकि कार्यालय में हाथ धोने या फिर सेनेटाइजर की व्यवस्था होनी चाहिए। पब्लिक प्लेस में थूकना वर्जित है, साथ ही बंद कमरों में वेंटिलेशन की सुविधा होनी चाहिए। स्कूलों के परिचालन में भारत सरकार की शिक्षा विभाग के नियमों का पालन जरूरी किया गया है और कॉलेज और विश्व विद्यालयों के परिचालन के लिए भी यूजीसी के नियमों का पालन अनिवार्य कर दिया गया है।

विश्विख्यात श्रावणी मेले को मिली अनुमति 

झारखंड सरकार ने 27 महीने बाद कोरोना से संबंधित सभी तरह की गतिविधियों को सशर्त अनुमति दे दी है. इस संबंध में मुख्य सचिव सुखदेव सिंह (Sukhdev Singh) ने आदेश भी जारी कर दिया है. आदेश के बाद अब राज्य में मेला और प्रदर्शनी का आयोजन हो सकेगा, जुलूस भी निकाले जा सकेंगे. सरकार के इस फैसले के बाद इस साल भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा और मेले के साथ श्रावणी मेले का भी आयोजन हो सकेगा। सरकार ने पूर्व के आदेश के तहत खुले स्थान पर 500 से अधिक लोगों के एकत्रित होने पर प्रतिबंध या विशेष परिस्थिति में उपायुक्त की अनुमति की बाध्यता भी खत्म कर दी है। 

इन नियमों का करना होगा पालन

– बंद स्थानों वाले कार्यस्थलों व सार्वजनिक परिवहन में मास्क जरूरी.

– सार्वजनिक स्थानों व कार्यस्थलों पर सोशल डिस्टेंसिंग भी अनिवार्य.

– कार्य स्थलों पर हैंडवॉश के साथ सैनिटाइजर हर हाल में रखना होगा.

– सार्वजनिक स्थान पर थूकना प्रतिबंधित, पकड़े जाने पर होगी कार्रवाई.

नियमो का उलंघन करने पर कड़ी कारवाही 

स्कूल, कॉलेज, कोचिंग, ट्रेनिंग सेंटर, होटल, रेस्टोरेंट, गेस्ट हाउस, मॉल, मल्टीप्लेक्स, जिम, योगा सेंटर और कार्य व धार्मिक स्थलों पर क्या एहतियात बरतना है, इसे लेकर दिशानिर्देश दिया गया है. बताया गया कि निर्देशों का पालन नहीं करने पर डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट और आइपीसी की धाराओं के तहत कार्रवाई होगी.

कॉलेज व विवि स्कूलों के लिए

विद्यालय में समुचित साफ-सफाई करने का निर्देश. स्कूल में फर्नीचर की सफाई और कीटाणुरहित करने की व्यवस्था करनी होगी. स्कूल के सभी कमरे हवादार होने चाहिए. स्कूल वाहनों के परिचालन से पहलेउसका सैनिटाइजेशन सुनिश्चित करना होगा. डेस्क पर छात्रों के बीच छह फीट की दूरी का पालन करना है। 

शॉपिंग मॉल

सामाजिक दूरी का पालन कराना होगा. ग्राहकों के लिए फेस कवर या मास्क जरूरी. परिसर में थूकना मना. शॉपिंग मॉल में फेस कवर या मास्क पहनना जरूरी. पार्किंग स्थल और परिसर के बाहर उचित भीड़ प्रबंधन की व्यवस्था करनी होगी. एयर कंडीशनिंग और वेंटिलेशन की व्यवस्था का पालन करना होगा। 

होटल एवं रेस्टोरेंट

हैंड सैनिटाइजर व थर्मल स्कैनर का प्रयोग प्रवेश द्वार पर करना है. होटल व रेस्टोरेंट कर्मी को फेस कवर व मास्क पहनना है. बैठने के लिए दूरी का पालन जरूरी. रेस्तरां में बैठने की क्षमता के 50% से अधिक की अनुमति नहीं होगी. कपड़े की नैपकिन की जगह डिस्पोजेबल पेपर नैपकिन का उपयोग करना है।