यहाँ जानिये दिल्ली समेत देश के आठ बड़े शहरों में प्रदुषण का हाल! इन शहरों की हालत ख़राब

दिल्ली की हवा रोज खराब श्रेणी में पहुँच रही है.. ऐसा लगने लगा है कि दिल्ली का प्रदुषण शायद ही अब पूरी ठण्ड तक जाए दिल्ली पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक दिल्ली में अधिकतम वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 377 दर्ज किया गया.

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की वायु गुणवत्ता निगरानी संस्था ‘सफर‘ ने कहा कि हवा की दिशा और हवा की गति हरियाणा, पंजाब और अन्य पड़ोसी क्षेत्रों में पराली जलने से निकले प्रदूषक तत्त्वों के दिल्ली पहुंचने के लिए अनुकूल है. दिल्ली के पीएम 2.5 संकेंद्रण में पराली जलाए जाने का योगदान रविवार को 19 फीसदी था.

दिल्ली में मंगलवार की सुबह वायु गुणवत्ता सूचकांक अधिकतम (एक्यूआई) 377 दर्ज किया गया. यहां, रोहिणी में वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 343, आरके पूरम में 329, आनंद विहार में 377 और मुंडका में 363 पाया गया. वहीं, सोमवार को औसत एक्यूआई 343 और रविवार को 349 थी.

दिल्ली के साथ ही आइये अन्य आठ बड़े शहरों की हवा की गुणवत्ता के बारे में जान लेते हैं.

अन्य 8 बड़े शहरों की हवा की गुणवत्ता का स्तर

अहमदाबाद- 113

बेंगलुरु- 98

मुंबई- 344

पुणे- 50

चेन्नई- 41

हैदराबाद- 141

कोलकाता- 153

दरअसल दिल्ली की भौगोलिक स्थिति भी दिल्ली के वायु प्रदूषण के लिए जिम्मेदार मानी जाती रही है.. एक बार दिल्ली की हवा प्रदूषित हो जाती है तो फिर तेज हवाओं का इन्तजार होता है कि कब तेज हवा आये और इस प्रदुषण को दिल्ली से उड़ाकर ले जाए.. इस वक्त दिल्ली वाले इसी तेज हवा का इन्तजार कर रहे हैं. वैसे भी आने वाले महीने में दीपावली भी है जिसमें खूब पटाखे फोड़े जाते हैं… ऐसे में आशंका है कि अब प्रदुषण लगभग अगले महीने तक लोगों को परेशान करने ही वाला है.

यहाँ आपको ये बता दें कि शून्य और 50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच एक्यूआई को ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 और 500 के बीच एक्यूआई को ‘गंभीर’ माना जाता है.