जानिए सरकार किन 3 करोड़ लोगों को सबसे पहले देगी कोरोना की वैक्सीन

कोरोना वैक्सीन पर मंगलवार शाम पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि देश में वैक्सीन बनाने की गती तेज है. लेकिन वैक्सीन आने के बाद यहाँ सबसे बड़ा सवाल ये है कि आख़िरकार अगर कोरोना की वैक्सीन भी गई तो ये सबसे पहले किसे दी जाएगी. तो बता दे कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि अगर आज देश कोरोना वायरस की वैक्सीन विकसित करता है तो सरकार ने कम से कम 3 करोड़ ऐसे लोगों की पहचान की है जिन्हें ये वैक्सीन तुरंत यानी सबसे पहले दिया जा सकता है

Corona Vaccine Tika Update: Govt identifying priority groups for  vaccination : 30 करोड़ भारतीयों को पहले लगेगा कोरोना का टीका, सरकार बना रही  लिस्‍ट

यहां बता दें कि एक एक्सपर्ट कमेटी एक ड्राफ्ट तैयार कर रही है, जिसमें इस बात की चर्चा है कि यदि कोरोना की वैक्सीन तैयार होती है कि तो इसे दिए जाने की प्राथमिकता क्या होगी

सरकार की प्राथमिकता उन लोगों को कोरोना की वैक्सीन देने की है जो इस बीमारी के खिलाफ जंग में फ्रंटलाइन वर्कर के तौर पर काम करे है.

Coronavirus in India: tourists told to write 'sorry' 500 times for  violating the quarantine - AS.com

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया है कि हमने पहली बार में 3 करोड़ ऐसे लोगों की पहचान की है जिन्हें वैक्सीन लगाने की सबसे ज्यादा जरूरत है. इन 3 करोड़ लोगों में से 70 से 80 लाख तो डॉक्टर ही हैं, जबकि लगभग 2 करोड़ लोग हेल्थकेयर हैं.  इन 2 करोड़ हेल्थकेयर वर्कर में केंद्रीय और राज्य पुलिस बल, होम गार्ड्स, आर्म्स फोर्सेज, निगम कर्मचारी, आशा वर्कर और सफाईकर्मी, शिक्षक, ड्राइवर शामिल हैं

मंगलवार की शाम पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि कोरोना की वैक्सीन जब तक नहीं जाती तब तक आप नियमों का पालन ज़रूर करे..मास्क पहले, सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करे और समय समय पर हाथ धोना ना भूले