विश्व हास्य दिवस : जानिये क्यों मनाया जाता है हास्य दिवस? क्या होते हैं हंसने के फायदे

2 मई को पूरे विश्व में विश्व हास्य दिवस मनाया जाता है. विश्व हास्य दिवस का शुभारंभ साल 1998 में हुआ था। इस दिन को मनाने का श्रेय डॉ। मदन कटारिया को जाता है। जी दरअसल उन्होंने ही 11 जनवरी 1998 को मुंबई में पहली बार विश्व हास्य दिवस को मनाया था। इस दिन को मनाने का उद्देश्य समाज के बढ़ते तनाव को कम करना था।

हालाँकि इस वक्त का माहौल बड़ा तनावपूर्ण है लेकिन हमें इससे उबरना है, हमें मुस्कुराकर इस तनाव को कम करना है. कहा जाता है हंसने से तन-मन में उत्साह का संचार होता है और दिल से हंसना तो किसी दवा से कम नहीं. आज हम आपको बताते हैं हंसने के फायदे..

* कहा जाता है बातचीत करते समय हम जितनी ऑक्सीजन लेते हैं उससे छः गुना अधिक ऑक्सीजन हंसते समय लेते हैं.
* मनोवैज्ञानिकों का कहना है कि जब आप मुस्कराते हैं तो आपका मस्तिष्क अपने आप सोचने लगता है कि आप खुश हैं- यही प्रक्रिया पूरे शरीर में प्रवाहित करता है और आप सुकून महसूस करने लगते हैं.

* कहा जाता है जब हम हंसना शुरू करते हैं तो शरीर में रक्त का संचार तीव्र होता है.

* कहा जाता है हंसने से जल्दी क्रोध नहीं आता.

* कहते हैं हंसने से आत्मसंतोष के साथ सुखद अनुभूति होती है.

* कहा जाता है हंसने से शरीर में नई स्फूर्ति का संचार होता है.

* कहते हैं हंसने से मन में उत्साह का संचार होता है और ब्लड प्रेशर कम होता है.

* कहा जाता है हंसी मांसपेशियों में खिंचाव कम करती है.

* कहते हैं हंसी दर्द दूर करती है और शरीर के साथ-साथ दिमाग की भी एक्सरसाइज होती है.