लॉकडाउन के बीच अचानक दिखे ये दुर्लभ पक्षी, वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

कोरोना वायरस के चलते पूरा भारत जहाँ लॉकडाउन है. वहीँ इस असर पर्यावरण पर पड़ता साफ़ दिखाई दे रहा है. नदियाँ साफ़ हो गयी हैं, हवा साफ़ हो गयी है और प्रदुषण की मात्रा में भारी कमी है. इसके साथ ही शहर के शोरगुल कम होने से अब जंगली जानवर और पक्षियों के अच्छे दिन आ गये हैं और वे अब शहर की तरफ रुख करने लगे हैं.

लॉकडाउन ने भले ही लोगों को घरों में कैद कर दिया हो लेकिन वन्य जीवों के लिए यह किसी बदलाव से कम नहीं है. जगंलों के अंदर दिखने वाले दुर्लभ पक्षियों का झुंड अब शहरों की तरफ बढ़ने लगा है. ऐसा ही नजारा इन दिनों मुंबई में देखने को मिल रहा है मुंबई में और शहर के आसपास राजहंसों की संख्या में तेजी से वृद्धि देखी गई है.

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही फोटो से अंदाजा लगाया जा सकता है कि नवी मुंबई, उरण, ठाणे क्रीक, पांजू द्वीप और वासल क्षेत्रों में राजहंस का विशाल झुंड इकट्ठा हो गया है. ठाणे क्रीक फ्लेमिंगो अभयारण्य के अधिकारी नाथूराम कोकरे ने बताया कि लॉकडाउन की वजह से झील का पानी साफ हो गया है और हवा में भी प्रदूषण के स्तर में सुधार हुआ है. इसके कारण पानी में शैवाल की गुणवत्ता में भी सुधार हुआ है, जिसके कारण फ्लेमिंगो एक बार फिर शहर की तरह आने लगे हैं. शैवाल फ्लेमिंगो का बेहतरीन भोजन हैं.

मुंबई मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक ठाणे में एक वन्यजीव अधिकारी ने बताया कि लॉकडाउन की वजह से कहीं पर भी इंसानों की मौजूदगी नहीं है. फ्लेमिंगो हमेशा झुंड में रहना पसंद करते हैं. ऐसे में इलाकों में शांति की वजह से फ्लेमिंगो एक बार फिर यहां पर दिखाई देने लगे हैं. उन्होंने कहा कि पर्यावरणविदों के लिए राजहंस के व्यवहार का अध्ययन करने का यह सही समय हो सकता है. ये अध्ययन राजहंसों को बचाने के लिए काम आ सकता है.