हनी ट्रैप : वीडियो कॉल कर महिलायें उतार देती हैं कपड़े, आपके गलती करते हुए शुरू होता है गंदा खेल

पूरे देश में हनीट्रैप के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. हनीट्रैप की जाल में अधिकारी, नेता, कारोबारी और बड़े बड़े सफेदपोश फंस चुके हैं.. हाल ही मध्य प्रदेश में कई नेताओं और अधिकारियों के हनीट्रैप में फंसने की जानकारी सामने आई थी इस मामले में कई महिलाओं को गिरफ्तार किया गया था लेकिन ताजा मामला राजस्थान का है..

महिलायें सोशल मीडिया के जरिये बनाती है लोगों को निशाना 

खबरों की माने तो राजस्थान के कई जिलों में हनीट्रैप गिरोह सक्रीय है.ये अपने तरीके से लोगों को अपनी जाल में फंसाती हैं और फिर आपत्तिजनक तस्वीरें और वीडियो के जरिये आपको ब्लैकमेल करती है. बताया गया कि महिलायें पहले सोशल मीडिया के जरिये लोगों से सम्पर्क करती है.. फिर बात चीत करती है… बातचीत के दौरान ही एक दुसरे के साथ फ़ोन नंबर साझा कर दिए जाते हैं और फिर सोशल मीडिया से शुरू हुई बात चीत आ जाती है व्हाट्सवप्प के वीडियो कॉल तक… वीडियो कॉल के शुरू होते हुए हनी ट्रैप गैंग शुरू कर देता है अपनी घिनौनी हरकत!
दरअसल वीडियो कॉल शुरू होने के बाद ये मामला अब बातचीत का नही रह जाता. इसके बाद यहाँ से शुरू होता है ब्लैकमेल करने का पहला फार्मूला..बताया गया कि वीडियो कालिंग के दौरान महिलाएं अपने कपड़े तक उतार देती है और वीडियो कॉल पर मौजूद पुरुष को भी कपड़े निकालने के लिए कहती है.. भावनाओं में बहकर जिसने भी ऐसा किया उसका महिलायें वीडियो रिकॉर्ड कर लेती है.. अब महिला के पास पुरुष की आपत्तिजनक तस्वीरें और वीडियो पहुँच जाते हैं जो सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल करने और मारपीट की धमकी देते हुए ये पीड़ित युवक से पैसों की डिमांड रुपए ऐंठने का काम करते हैं। ब्लैकमेलिंग के लिए दौरान आरोपी अलग मोबाइल नंबर का इस्तेमाल करते हैं। राजस्थान सीकर जिले में अब तक इस तरह के दो तीन मामले सामने आ चुके हैं. हालांकि, पुलिस में रिपोर्ट केवल एक पीड़ित ने ही दर्ज कराई है.

शिक्षक को बनाया हनी ट्रैप की महिलाओं ने शिकार 

मामला एक शिक्षक से जुड़ा हुआ है. शिक्षक की फेसबुक आईडी पर अंजली मिश्रा के नाम से बनी फेसबुक आईडी से फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी गई। रिक्वेस्ट एक्सेप्ट करने के बाद युवती ने व्हाट्सऐप नंबर मांगे और दिनभर मैसेज भेजती रही। व्हाट्सऐप कॉलिंग कर शिक्षक के साथ अश्लील बातें करनी लगी। पहले युवती ने अपने कपड़े उतारने शुरू किए और शिक्षक को भी ऐसा ही करने के लिए कहा। शिक्षक के गलती करते ही उसने वीडियो रिकॉर्ड कर लिया।

बाद में वीडियो वायरल करने की धमकी देकर 50 हजार रुपए मांगे। बार-बार फोन करके धमकाया। परेशान होकर इस संबंध में शिक्षक ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। शुरुवाती छानबीन में सामने आया है कि दो तीन लड़कियों ने ग्रुप बना रखा है फेसबुक आईडी और व्हाट्सऐप डीपी पर फोटो भी लगा रखी है। पुलिस में शिकायत दर्ज होने के बावजूद इन लोगों ने अपने फोन नंबर चालू कर रखे हैं। अब तक सामने आए मामलों में युवतियों ने 07438022899 व 09109850724 नंबरों से फोन किया है।
सोशल मीडिया पर इस तरह का गैंग बड़ी तेजी से फल फूल रहा है इससे आपको सावधान रहने की जरूरत है.