मन की बात : प्रधानमंत्री ने देशवासियों से की कारगिल की रोमांचक कहानी पढ़ने की अपील

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कारगिल विजय दिवस की 22वीं वर्षगांठ के मद्देनजर देशवासियों से कारगिल की रोमांचक कहानी पढ़ने की अपील करते हुए कहा कि यह युद्ध हमारे सशस्त्र बलों की वीरता और अनुशासन का ऐसा प्रतीक है जिसे पूरी दुनिया ने देखा है।

प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ के 79वें संस्करण को संबोधित करते हुए कहा कि कल (26 जुलाई) कारगिल विजय दिवस है। कारगिल का युद्ध भारत की सेनाओं के शौर्य और संयम का ऐसा प्रतीक है, जिसे पूरी दुनिया ने देखा है। इसबार ये गौरवशाली दिवस भी अमृत महोत्सव के बीज मनाया जाएगा। इसलिए ये और भी खास हो जाता है। मैं चाहूंगा कि आप कारगिल की रोमांचित कर देने वाली गाथा जरूर पढ़ें। आइए हम सभी कारगिल के बहादुर दिलों को नमन करें।

उन्होंने कहा कि जो देश के लिए तिरंगा उठाते हैं, उनके सम्मान में भावनाओं से भर जाना स्वाभाविक है। देशभक्ति की ये भावना हम सबको जोड़ती है। उल्लेखनीय है कि भारत इस साल ‘ऑपरेशन विजय’ की 22वीं वर्षगांठ मना रहा है। ऑपरेशन विजय, 26 जुलाई 1999 को कारगिल में पाकिस्तान पर भारतीय सशस्त्र बलों की जीत का प्रतीक है।