सबसे जहरीले मेढ़कों मिलिए, तीन मिनट में ले सकते हैं 10 लोगों की जान

क्या आपने जहरीले मेढक के बारे में सुना है? नही सुना तो चलिए आज जान भी लेते हैं और पहचान भी लेते हैं..

वैसे अपने आस पास पाए जाने वाले अधिकतर मेढ़क जहरीले नही होते लेकिन ऐसे भी मेढक है जिसके जहर से 10 लोगों की मौत सिर्फ 3 मिनट में हो सकती है . दरअसल गोल्डन पॉइजन डार्ट प्रजाति का मेंढक बेहद खतरनाक और  जहरीला होता है. वैज्ञानिक इसे दुनिया के सबसे जहरीले जीवों में शामिल करते हैं। ये मेंढक चमकीले और पीले रंग की धारी वाले होते हैं। इसके कलर की वजह से अन्य जानवरों का ध्यान इसकी ओर आकर्षित होता है और फिर उन्हें ये अपना शिकार बनाता है. इन्हें कोलंबिया के वर्षा वनों में पाया जाता है। केरोलिना यूनिवर्सिटी के शोध पर यकीन करें, तो जो मेंढक ज्यादा चमकीले होते हैं वो उतने ज्यादा जहरीले होते हैं

इन जहरीले मेढ़कों की तस्करी भी खूब की जाती है. मार्केट में इस छोटे से जहरीले मेंढक की कीमत डेढ़ करोड़ रुपए है। लोग इन विलुप्त होते मेंढकों को खरीदने के लिए अच्छी खासी रकम देते हैं. यूरोप और अमरीका के संग्राहक उनको शौक से रखते हैं.. हर मेंढक में इतना जहर होता है कि वह 10 लोगों की जान ले सके। उनकी त्वचा का चटख रंग शिकारियों को आगाह करता है.. वही रंग उनको बेशकीमती बनाता है। जर्मनी के हम्बोल्ट इंस्टीट्यूट के शोधकर्ताओं के मुताबिक कोलंबिया में करीब 200 उभयचर प्रजातियों को लुप्तप्राय या गंभीर रूप से संकटग्रस्त प्रजातियों के रूप में वर्गीकृत किया गया है। इनमें ज्यादातर मेंढक हैं..वैसे ऐसे विलुप्त हो रहे मेढकों की मांग भी खूब है और सबसे ज्यादा मांग कोलंबिया के ओफगा मेंढक की है, जो कथित तौर पर अनिषेचित अंडे खाते हैं। इस प्रजाति के मेंढक के बच्चे बिल्कुल अपनी मां की तरह होते हैं। उनको एक-एक करके हाथ से अनिषेचित अंडे खिलाने पड़ते हैं। यह बहुत मेहनत का काम है, लेकिन यह प्रजाति सबसे अधिक खतरे में है।

हालाँकि अभी तक ये पता नही चल सका कि आख़िरकार ये मेढक जहरीली क्यों होते है.. ऐसा माना जाता है कि ये मेढक अंडों से बाहर निकलते हैं तब भी जहरीली ही होते हैं लेकिन पहले ये जहरीले नही होते थे… कहा जाता है कि मेढक जहरीले कीड़े मकोड़े खाते हैं वहीँ से इनमें जहर आता है.