मौसम विभाग ने फिर से मानसून को लेकर की भविष्यवाणी

भारत मौसम विज्ञान विभाग यानी आईएमडी ने एक बार फिर से देश में मॉनसून को लेकर भविष्यवाणी की है. मौसम विभाग ने बताया है कि दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के उत्तर और दक्षिण भारत में सामान्य, मध्य भारत में सामान्य से अधिक और पूर्व तथा पूर्वोत्तर भारत में सामान्य से कम रहने की संभावना है.

IMD predicts heavy rainfall at isolated places over Delhi, Bihar, Punjab  today - ZEE5 News

आईएमडी ने दक्षिण पश्चिम मॉनसून 2021 के लिए अपना दूसरा दीर्घावधि पूर्वानुमान जारी करते हुए कहा है कि देश में जून में मॉनसून सामान्य रहने का पूर्वानुमान है, जो बुवाई का भी मौसम होता है. आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि कुल मिलाकर पूरे देश में इस साल मॉनसून के सामान्य रहने का अनुमान है. साथ ही कहा कि ‘हम अच्छे मॉनसून की उम्मीद कर रहे हैं, जिससे किसानों को मदद मिलेगी.’’

आईएमडी के मुताबिक, देश में मॉनसून की बारिश के दीर्घावधि औसत (एलपीए) का 101 प्रतिशत रहने की संभावना है. जिसमें चार प्रतिशत कम या ज्यादा की आदर्श त्रुटि हो सकती है.’’

चक्रवात वैज्ञानिक डॉ. मृत्युंजय महापात्र बने मौसम विभाग के प्रमुख

बता दें कि एलपीए के 96से 104 प्रतिशत के दायरे में मॉनसून को सामान्य माना जाता है. आईएमडी ने दक्षिण पश्चिम मॉनसून 2021 के लिए पहले दीर्घावधि पूर्वानुमान में एलपीए की 98 प्रतिशत बारिश होने का अनुमान व्यक्त किया था, जो सामान्य श्रेणी में आता है. लेकिन अब उसने अपने पूर्वानुमान को एलपीए का 101 प्रतिशत कर दिया है जो सामान्य श्रेणी में उच्च स्तर की ओर है.

मौसम विभाग के मुताबिक, इस बार 40 प्रतिशत संभावना सामान्य बारिश की है, 22 प्रतिशत संभावना सामान्य से अधिक वर्षा की है, 12 प्रतिशत संभावना अत्यधिक बारिश होने की है और 18 प्रतिशत संभावना सामान्य से कम बारिश की है.