6 राज्यों की हालात पर एक्सपर्ट को है चिंता! देखिये कैसे 6 राज्यों में कोरोना से मचा है हाहाकार

कोरोना वायरस की दूसरी लहर से भारत भले ही उबरता हुआ दिखाई दे रहा हो लेकिन छ राज्य ऐसे हैं जिनकी वजह से टेंशन हाई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय की डेटा के मुताबिक, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में ही देश की 70 फीसदी मौतें दर्ज की गई हैं. लगातार हो रही मौतें अब भी सरकार और एक्सपर्ट्स के लिए चिंता का विषय बनी हुई हैं। देश में बुधवार को 3207 मौत दर्ज की गई हैं। बुधवार को दर्ज की गईं मौतों में सबसे पहले नंबर पर महाराष्ट्र से 854, तमिलनाडु से 490, कर्नाटक से 464, केरल से 194, उत्तर प्रदेश से 175, पश्चिम बंगाल से 137 और आंध्र प्रदेश से 104 मौतें शामिल हैं।

हालाँकि 36 दिनों के बाद मंगलवार को भारत में रोजाना होने वाली मौत का आँकड़ा 3,000 से नीचे ही रहा, मगर बुधवार को 3,207 और मौतें दर्ज कीं, जिससे भारत में कोरोना से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर कुल 3,35,102 हो गई है।

कोरोना की सबसे अधिक तबाही महाराष्ट्र में ही देखने को मिली है। देश में अब तक कुल 3,35,102 मौतें हुई हैं, जिनमें महाराष्ट्र में 96,198, कर्नाटक में 29,554, तमिलनाडु में 24,722, दिल्ली में 24,299, उत्तर प्रदेश में 20,672, पश्चिम बंगाल में 15,678, पंजाब में 14,649 और छत्तीसगढ़ में 13,077 मौतें हुई हैं।

कोरोना की तीसरी लहर की आहट के बीच फिलहाल संक्रमण की साप्ताहिक दर गिरकर 8.21 प्रतिशत रह गयी है. इलाज करा रहे मरीजों की संख्या घटकर 17,93,645 रह गई है जो संक्रमण के कुल मामलों का 6.34 प्रतिशत है जबकि कोविड-19 से उबरने वाले लोगों की राष्ट्रीय दर 92.48 प्रतिशत है.

तो आंकड़ों के जरिये आपने समझा कि महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में कोरोना की स्थिति अभी भी चिंता का विषय बनी हुई है.