नितिन गडकरी ने कहा- सड़क दुर्घटनाओं में कमी नहीं आना यह मेरे विभाग की सबसे बड़ी विफलता, मैं स्वीकार करता हूं

एजेंडा आजतक में पहुंचे सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने सड़क हादसे न रोक पाने को अपने मंत्रालय की असफलता बताया है, साथ ही देश में नई सड़क परिवहन योजनाओं के बारे में विस्तार से चर्चा की। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी  ने सोमवार को स्वीकार किया कि देश में पिछले पांच साल में सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने में उनके विभाग को सफलता नहीं मिली है और उन्होंने यह भरोसा दिलाया कि मोटर यान संशोधन विधेयक पारित होने के बाद सड़क हादसों से लोगों की जान बचाने में मदद मिलेगी।

Image result for नितिन गडकरी बोले- नहीं रोक पाया सड़क हादसों में मौतें, मानता हूं विफलता

गडकरी ने लोकसभा में ‘मोटर यान (संशोधन) विधेयक, 2019′ विधेयक को पेश करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि विधेयक पिछली लोकसभा में पारित हो गया था लेकिन राज्यसभा में पारित नहीं हो सका था। नितिन गडकरी के अनुसार उन्होंने राजस्थान के तत्कालीन परिवहन मंत्री की अध्यक्षता में समिति गठित कर इस विषय का अध्ययन कराया जिसमें 18 राज्यों के परिवहन मंत्री शामिल रहे।

Related image

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि विधेयक स्थाई समिति और संयुक्त प्रवर समिति दोनों में गया। उन्होंने कहा कि सरकार ने पिछले पांच साल में बहुत प्रयास किये लेकिन विधेयक को पारित नहीं करा पाए। गडकरी ने कहा कि इसमें राजनीति नहीं होनी चाहिए और सरकार सभी से बातचीत को तैयार है। सड़क हादसों से लोगों की जान बचाने के लिए विधेयक को संसद की मुहर लगवाना जरूरी है ।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने पांच करोड़ नौकरियां देने  के सवाल पर कहा कि हमने 40 किलोमीटर सड़क प्रतिदिन बनाने का लक्ष्य रखा था, अब वह 32 हो गया है, इस साल तक शायद 40 भी हो जाए। ठीक ऐसे ही 5 करोड़ नौकरियां पैदा करने का लक्ष्य भी रखा गया है। गडकरी ने कहा कि MSME सेक्टर में नई-नई योजनाओं से रोजगार के कई नए रास्ते खुलेंगे, स्थिति बेहद चुनौतीपूर्ण हैं लेकिन हम रास्ता निकालने के लिए काम कर रहे हैं,  इसमें वक्त लग सकता है।

113 thoughts on “नितिन गडकरी ने कहा- सड़क दुर्घटनाओं में कमी नहीं आना यह मेरे विभाग की सबसे बड़ी विफलता, मैं स्वीकार करता हूं

Leave a Reply

Your email address will not be published.