अब मच्छरों से बनेगी कई बीमारियों को ठीक करने वाली वैक्सीन!

जैसा की हम सभी को पता है कि मच्छर कई बीमारियों का घर होता है. यहीं वजह है कि मच्छरों को 100 रोगों का जनक माना गया है. मच्छर के काटने से मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया, जीका, पीला बुखार, जैसी कई बीमारियां होती हैं. ऐसे में विशेषज्ञ इंसानों को इन गंभीर बीमारियों से बचाने के लिए मच्छरों की ही लार से वैक्सीन बनाने पर अध्ययन कर रहे हैं.

अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिजीज(National Institute of Allergy and Infectious Diseases) की एक वैज्ञानिक जेसिका मैनिंग इस पर शोध कर रही है. जेसिका मैनिंग मच्छरों की लार में प्रोटीन का इस्तेमाल कर वैक्सीन बनाने की तकनीक पर शोध कर रही हैं. इस तकनीक से कीड़े-मकौड़ों के द्वारा फैलने वाली तमाम बीमारियों के लिए एक ही टीके यानी वैक्सीन को बनाया जा सकता है.

शोधकर्ता जेसिका मैनिंग अपने सहयोगियों के साथ वैक्सीन पर काम करते हुए, अब मनुष्यों में मच्छर के लार के टीके का ट्रायल कर रही हैं. इतना ही नहीं द लैंसेट में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक मानवों पर ट्रायल सफल भी रहा है.

यहां आपको ये भी बता दें कि ट्रायल में एनोफिलीज मच्छर की लार पर आधारित टीके को शामिल किया गया था. परीक्षण का रिजल्ट मानव शरीर में एंटीबॉडी और सेलुलर प्रतिक्रियाओं को ट्रिगर करने की क्षमता के साथ, इंसानों में इस्तेमाल के लिए सुरक्षित पाया गया.

यहां ये भी जान ले कि WHO के मुताबिक, वर्ष 2017 में मच्छरों से होने वाली बीमारी मलेरिया से 4 लाख 35 हजार लोगों की मृत्यु हो गई थी. जिनमें से करीब 80 प्रतिशत मौतें अफ्रीकी क्षेत्रों और भारत में हुई थी. ऐसे में इस वैक्सीन का ट्रायल अपने आप में अहम माना जा रहा है.