ओमिक्रॉन अपडेट: भारत में ओमिक्रॉन के हर रोज 14 लाख केस ! हो जाएं सावधान

दुनिया के कई देशों में कोरोना वायरस का नया वेरिएंट ओमिक्रॉन तेजी से फैल रहा है. भारत में भी अबतक इसने 12 राज्यों में अपने पैर पसार लिए हैं. देश में शुक्रवार को ओमिक्रोन के सबसे ज्यादा 24 नए मामले आने के साथ ही कोरोना के नए वैरिएंट से संक्रमित लोगों की संख्या 115 हो गई है. भारत में ओमिक्रोन के सबसे ज्यादा 40 मामले महाराष्ट्र, दिल्ली में 22, राजस्थान में 17, तेलंगाना में 8, कर्नाटक में 8, केरल में 7, गुजरात में 7, उत्तर प्रदेश में 2, आंध्र प्रदेश में 1, तमिलनाडु में 1, बंगाल में 1 और चंडीगढ़ में 1 मामला दर्ज किया गया है. ऐसे में सरकार ने कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के प्रति लोगों को सावधान करते हुए कहा है कि इसे हल्के में नहीं लें, अगर सावधानी नहीं बरते तो फिर नियंत्रण मुश्किल होगा. वैज्ञानिकों ने भी कहा है कि ओमिक्रॉन से संक्रमित होने वालों में भले ही हल्के लक्षण नजर आ रहे हैं, लेकिन यह तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है.

सरकार ने इसके लिए अफ्रीका और यूरोप के साथ ही ब्रिटेन जैसे देशों का उदाहरण दिया है, जहां कोरोना के नए मामले रिकार्ड ऊंचाई पर पहुंच गए हैं. केंद्र सरकार ने लोगों को गैर-जरूरी यात्रा और सामूहिक समारोहों से बचने और बड़े स्तर पर नए साल का जश्न नहीं मनाने की सलाह दी है.

नीति आयोग के सदस्य व कोरोना टीकाकरण टास्क फोर्स के प्रमुख डा.वीके पाल ने लोगों से कोरोना उचित व्यवहार का कड़ाई से पालन करते रहने और जल्द से जल्द टीके की दोनों डोज लेने की अपील की  है. अगर भारत में भी ओमिक्रॉन ब्रिटेन की तरह ही फैलता है तो क्या होगा? इस सवाल का जवाब नीति देते हुए डॉ. पॉल ने कहा कि यदि हम यूके में प्रसार के पैमाने को देखें और अगर भारत में भी ओमिक्रॉन का ऐसा ही प्रकोप होता है, तो हमारी आबादी के लिहाज से हर दिन 14 लाख मामले सामने आयेंगे.

ऐसे में इससे बचने के लिए बार-बार हाथ धोने, उचित दूरी बनाए रखने और मास्क पहनने जैसे पुराने तौर-तरीकों का कड़ाई से पालन करने के साथ ही बेवजह यात्रा से भी बचना चाहिए. अगर इसे हल्के में लेंगे तो हमारे देश में भी यह वैरिएंट तेजी से फैल सकता है. इसीलिए अब ओमिक्रॉन को लेकर सावधानी बरतनी जरूरी है.