​​डीआरडीओ की कोरोना दवा 2-डीजी का एक पाउच मिलेगा 990 रुपये में ​​

नई दिल्ली:​ ​​रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) की ओर से विकसित की गयी ​​​​कोविड-19 रोधी दवा 2-डीजी ​के ​एक पाउच की कीमत 990 रुपये ​तय की गई है। ​देश के पहले एंटी कोविड ओरल ड्रग​ ​को ​​​सरकारी अस्पतालों, केंद्र और राज्य सरकारों को कम कीमत पर दिया जाएगा।​ अब यह ​दवा​ पाउडर ​के रूप ​में​ ​अगले माह से ​बाजार में ​उपलब्ध होगी​। ​पानी में घोलकर पीने वाली यह 2-डीजी दवा देश को कोविड संकट से उबारने में गेमचेंजर साबित हो सकती है।​
 
देश का पहला एंटी कोविड ओरल ड्रग 2-डीजी रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ​17 मई को ​डीआरडीओ भवन में लांच करके पहली खेप केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को सौंपी​ थी​। यह कोविड रोधी दवा 2-डीऑक्सी-डी-ग्लूकोज (2-डीजी) डीआरडीओ ने हैदराबाद स्थित डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज के साथ मिलकर विकसित की है। इसका नाम 2-डिऑक्सी-डी-ग्लूकोज (2-डीजी) है जिसका क्लीनिकल ट्रायल पूरा हो चुका है।
चिकित्सीय परीक्षण के दौरान 110 कोविड रोगियों को यह दवा दी गई, उनमें से अधिकांश की आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई है। साथ ही अस्पताल में भर्ती गंभीर मरीजों में ऑक्सीजन की निर्भरता को भी इस दवा ने कम किया है। इस तरह मेडिकल ट्रायल के दौरान सामने आया कि 2-जी दवा कोविड मरीजों को जल्द स्वस्थ करने में मदद करती है। इसलिए ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) ने ​0​1 मई को गंभीर कोविड-19 रोगियों के लिए इस दवा के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी है।