राजनीति में वही खड़ा रहता है, जो प्रासंगिक बना रहता हैः नड्डा

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आगामी पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव की तैयारियों के लिए आयोजित राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में राजनीति में प्रासंगिक बने रहने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि राजनीति में वही खड़ा रहता है, जो प्रासंगिक बना रहता है।

जेपी नड्डा ने सोमवार को भाजपा मुख्यालय में आयोजित राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक के उद्धाटन सत्र को संबोधित किया।इस दौरान उन्होंने राजनीति में प्रासंगिक बने रहने के महत्व पर जोर दिया। उन्होंने कहा, “हम परिवर्तन की जो थ्योरी और प्रेक्टिस करते हैं, वह एक सतत प्रक्रिया है। राजनीति में वही खड़ा रहता है, जो प्रासंगिक बना रहता है।” भाजपा अध्यक्ष की इस बात को हाल में हुए राष्ट्रीय कार्यसमिति में बदलाव से जोड़ कर देखा जा रहा है।

नड्डा ने कोरोना महामारी के दौरान कार्यकर्ताओं के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि कोरोना काल में किए गए कार्यों से पार्टी महामारी के दौर में भी उभर कर सामने आई। उन्होंने कहा, ‘‘पार्टी क्वारंटाइन और लॉकडाउन में भी आगे बढ़कर आई है। कोराना महामारी के दौरान अपने कार्यों के दम पर पार्टी उस दौर में भी उभरकर सामने आई।”

राष्ट्रीय पदाधिकारियों की इस बैठक को आगामी 2022 में होने वाले उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोवा विधानसभा चुनाव की दृष्टि से महत्वपूर्ण माना जा रहा है।