42 दिनों में तैयार हो जाएगी ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन ! स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा-कोरोना दिवाली तक काबू में होगा

आमतौर पर किसी भी वैक्सीन को बनाने में कई साल लग जाते हैं, लेकिन वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि जिस गति से काम चल रहा है, उस हिसाब से कोरोना की वैक्सीन बहुत ही कम समय में बनकर तैयार हो सकती है. हालांकि कई वैज्ञानिकों ने इस बात की भी आशंका जाहिर कि है कि सुरक्षित और असरदार वैक्सीन बनाने में कई साल भी लग सकते हैं, या फिर ऐसा भी हो सकता है कि कोरोना वायरस की कभी कोई वैक्सीन ही ना मिले. लेकिन इन सब के बीच वैक्सीन को लेकर बहुत अच्छी खबरें सामने आ रही है.

How to volunteer for a coronavirus vaccine trial - CNET

संडे एक्सप्रेस के रिपोर्ट के मुताबिक, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक वैक्सीन बनाने के करीब पहुंच गए हैं.ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन का ट्रायल आखिरी चरण में है. ऐसा माना जा रहा है कि अगर सब कुछ ठीक रहा हो ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन अब से सिर्फ 6 हफ्ते यानी 42 दिनों में बनकर तैयार हो जाएगी. यही नहीं, ब्रिटेन में वैक्सीन के प्रोडक्शन की तैयारियां भी लगभग पूरी हो चुकी हैं. हरी झंडी मिलने के बाद काफी कम समय में ही ये वैक्सीन ब्रिटेन के लोगों को मिल जाएगी. हालांकि, ब्रिटेन सरकार का अभी तक इसे लेकर कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है.

Britain prepares to allow emergency access to Covid-19 vaccine - कोविड-19  के टीके के आपात उपायोग की अनुमति देने की तैयारी में जुटा ब्रिटेन

यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन से भारत को भी काफी उम्मीदें हैं. दरअसल, वैक्सीन बनाने के लिए ऑक्सफोर्ड ने भारत की सीरम इंस्टीट्यूट से करार किया है.

वही इन सब के बीच भारत के केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने भी कोरोना को लेकर एक राहत वाली बात कही है. डॉ हर्षवर्धन ने उम्मीद जताई कि दिवाली तक कोरोना को काबू में कर लिया जाएगा. इसके साथ ही डॉ. हर्षवर्धन ने कहा है कि डॉ. देवी प्रसाद शेट्टी और डॉ. सीएन मंजनाथ जैसे विशेषज्ञ शायद इससे सहमत होंगे कि अतीत में दुनिया के सामने आए अन्य वायरस की तरह कोरोना भी कुछ समय बाद स्थानिक हो जाएगा.

स्वास्थ्य मंत्री ने इस साल के अंत तक कोरोना वैक्सीन मिलने की उम्मीद भी जताई है और कहा है कि कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए वैक्सीन हासिल करने की दौड़ में हम दुनिया के किसी देश से बहुत पीछे नहीं हैं. साथ ही स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि देश में सात से आठ वैक्सीन पर काम चल रहा है. इनमें से तीन क्लीनिकल ट्रायल के चरण में पहुंच गई हैं और उम्मीद है कि इस साल के अंत तक हमें एक वैक्सीन मिल जाएगी. ऐसे में हम कयास लगा सकते है कि बहुत जल्द ही भारत के लोगों को कोरोना की वैक्सीन मिलेगी, तब तक के लिए हमे सर्तक रहने की जरूरत है.