सेना के हेलीकॉप्टर क्रैश में पंचकूला के मेजर अनुज राजपूत शहीद

पंचकूला: जम्मू-कश्मीर के उधमपुर में सेना के हेलीकॉप्टर क्रैश में पंचकूला निवासी मेजर को-पायलट अनुज राजपूत भी शहीद हो गए हैं। तीन दिन पहले 18 सितंबर को मेजर अनुज राजपूत जन्मदिन था। डेढ़ महीने पहले 23 जुलाई को अनुज की सगाई हुई थी। मेजर अनुज अपने माता-पिता की इकलौती संतान थे। यहां के सेक्टर 20 स्थित जीएच सोसाइटी के फ्लैट नंबर 104 निवासी पिता केएस आर्य पंचकूला डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में एडवोकेट और मां ऊषा देवी सरकारी स्कूल में टीचर हैं। वे इस सोसाइटी में पिछले 12 साल से रह रहे हैं। मंगलवार को रात साढ़े 9 बजे सेना पुलिस उनके फ्लैट पर पहुंची। आज मेजर अनुज का पार्थिव शरीर सेक्टर 20 स्थित जीएच सोसायटी में लाने की तैयारी है।

 

जम्मू-कश्मीर के उधमपुर में पटनीटॉप में मंगलवार को सेना का हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया था। इसमें पायलट और को-पायलट दोनों की ही मौत हो गई। इस हादसे में पंचकूला ने अपना एक महान सपूत खो दिया। जैसे ही उनकी शहादत की खबर परिवार को मिली तो उनके माता-पिता दोनों जम्मू-कश्मीर रवाना हो गए। मेजर अनुज राजपूत की शहादत की खबर मिलते ही उनकी सोसायटी में रहने वाले लोग भी शोक में डूब गए। लोग उनके फ्लैट में शोक व्यक्त करने भी गए, लेकिन कोई घर पर नहीं मिला। मिलिट्री के अधिकारी उनके फ्लैट पर भी गए, लेकिन वहां कोई नहीं मिला।

मेजर अनुज राजपूत का तीन दिन पहले यानी 18 सितंबर को ही जन्मदिन था। करीब डेढ़ महीने पहले 23 जुलाई को मेजर अनुज राजपूत की दिल्ली में सगाई भी हुई थी। अनुज राजपूत की 12वीं तक पढ़ाई चंडीगढ़ में हुई। उसके एनडीए की पढ़ाई करने देहरादून चले गए थे। इसके बाद उनका सेना में चयन हो गया था और वे को-पायलट बन गए थे। इधर, सोसायटी में भी लोगों को इस बात का पता मंगलवार को रात साढ़े 9 बजे के बाद चला। इसके बाद पार्षद सुरेश गर्ग, सेक्टर 20 स्थित जीएच सोसायटी से योगेंद्र क्वात्रा, कैप्टन डीके उप्पल, अनील कुमार, एससी जैन के अलावा पुनीत गर्ग, अविनाश मलिक के अलावा कई लोग सोसायटी में घर पहुंचे। इस खबर के बाद देर रात तक सोसाइटी में बाहर लोगों को आना जाना लगा रहा।