Exclusive : अवैध खनन के खिलाफ आवाज उठाई तो घर पर पेट्रोल बम से किया गया हमला

राजस्थान : अवैध खनन का प्रचलन पूरे देश में है और अवैध खनन माफियाओं के हौसले कितने बुलंद होते हैं इसके कई उदाहरण हम देख चुके हैं. ताजा मामला राजस्थान के जयपुर जिले के ग्राम पंचायत छितोली से सामने सामने आया है. वैसे तो ये जिला अपनी कला के लिए प्रसिद्ध है लेकिन अवैध खनन माफियाओं के बुलंद हौसले ने ना सिर्फ यहाँ पर दहशत फैलाई है बल्कि ग्रामीणों को भयभीत कर दिया है. वो कहते हैं न कि डरा हुआ इंसान या फिर सब कुछ झेलने के लिए मजबूर हो जाता है या फिर वो बुलंदी के साथ माफियाओं के खिलाफ आवाज उठाता है.


छितौली में ऐसा ही कुछ हुआ.. सबसे पहले ग्रामीणों ने तहसीलदार के जरिये कब्ज़ा कर अवैध खनन कर रहे माफियाओं से जमीन को छुडवाने की कोशिश की तो इसमें तो वे कामयाब हो गये लेकिन इसके बाद राकेश शर्मा और सुन्दर लाल शर्मा के घर पर रात में तीन लोगों ने मिलकर पेट्रोल बम से हमला कर दिया.. जिसका सीसीटीवी वीडियो भी सामने आया अहै. वीडियो में आप साफ़ तौर पर देख सकते हैं कि दो युवक पेट्रोल बम को जलाकर घर में फेंकने की कोशोइश कर रहे हैं और इसी कोशिश में युवक खुद जलते जलते बाल बाल बचे हैं. हालाँकि जिनके घर ये पूरी घटना हुई है सुन्दरलाल का कहना है कि उनके घर में दो बम फेंके जा चुके थे. वहीँ ग्रामीणों को शक है कि अवैध खनन को रुकवाने के लिए किये गये प्रयासों की वजह से ही खनन माफियाओं ने उनके घर पर हमला करवाया है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक़ भी हमला करवाने में खनन माफिया का ही हाथ है. वहीं पेट्रोल बम से हमला करने के मामले में दो आरोपियों की गिरफ्तारी हो गयी है लेकिन इस घटना के बाद तो ग्रामीणों ने अवैध खनन माफियाओं के खिलाफ धावा बोल दिया है और अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन पर बैठ गये हैं.. और इस मुहिम को नाम दी है छितौली बचाओ क्रेशर हटाओ..

ग्रामीणों का कहना है कि जब तक आबादी के नजदीकी इलाके से अवैअध खनन पर लगाम नही लगाईं जाती तब तक प्रदर्शन जारी रहेगा. ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि खनन विभाग अवैध खनन को लेकर गंभीर नही है. लगातार हो रही खुदाई कराने वाले अवैध खनन माफियाओं के खिलाफ ना तो कोई कार्रवाई की जाती है और ना ही अवैध खनन में शामिल गाड़ियों पर कार्रवाई होती है.

ग्रामीणों के द्वारा उठाई गयी अवैध खनन के खिलाफ आवाज में जनप्रतिनिधियों समेत कई लोगों ने अपना समर्थन दिया है प्रदर्शन स्थल पर पहुंचकर उनका हौसला बढ़ाया है. हालाँकि हमने कोशिश की कि इस धडल्ले से चल रहे इस अवैध खनन के जिम्मेदार लोगों और पेट्रोल बम से हमला करने वाले आरोपियों के बार में जानने की लेकिन हमें इनका पक्ष रखने वाला कोई नही मिल पाया…

वहीँ बात अगर अवैध खनन की करें तो अवैध खनन से सरकारी नुकसान तो होता ही है..आस पास के इलाकों पर खतर आ रहता है और सबसे बड़ी बात इसका दूष्प्रभाव हमारे पर्यावरण पर पड़ता है.. तो इसलिए अवैध खनन माफिया के खिलाफ करवाई होनी चाहिए चाहे वो कहीं भी हो.. लेकिन जिस माफिया के हैउसले इतने बुलंद हो जो आवाज उठाने वाले के घर पर पेट्रोल बम से हमला करवा दे उसपर तो पुलिस को त्वरित कार्रवाई करनी चाहिए
खैर देखने है कि इस मामले में कब तक पुलिसिया कार्रवाई होती है/