पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में किया बड़ा एलान, तीनों कृषि बिल हुए रद्द ! सियासत में मची हलचल

यु तो देश में हर दिन कुछ न कुछ सियासत में हलचल मचाने के लिए रहता ही हैं लेकिन इस जिसने सियासत में हलचल मचाई हैं वो बात सुनकर आप हैरान हो जायेगे. जी हां दरअसल हाल ही में हुए राष्ट्र के नाम संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बड़ा एलान कर दिया जिसमे उन्होंने कहा की वो अपने द्वारा बांये गये तीनो कृषि कानूनों को वापस ले रहे हैं. इस एलान के बाद जो हडकंप सियासत में मचा हैं और जो बयान नेताओ के आ रहे हैं वो वाकई सुनने लायक हैं. लेकीन इस बार अचानक से पीएम मोदी ने  ये एलान कर सभी  देशवासियों को चौंका दिया हैं.

pm modi revokes three news agriculture laws address to nation here details  amh | Farm Laws Repealed: प्रधानमंत्री ने क्‍यों कहा क्षमा चाहता हूं! पढ़ें  पीएम मोदी के संबोधन की 10 बड़ी बातें

आपको बता दें कि देश के पीएम नरेंद्र  मोदी ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेते हुए आंदोलन कर रहे सभी किसान भाईयो से वापस घर लौटने का आग्कीरह किया हैं. जबकि तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए बीते डेढ़ साल से सभी किसान मिलकर विरोध-प्रदर्शन कर रहे थे. जिसका उन्हें अब जाकर लाभ मिला हैं. आपको बता दें की  राष्ट्रीय राजधानी की सीमाओं पर किसान संगठन लंबे समय से धरना प्रदर्शन कर रहे थे. केंद्र सरकार ने इसको लेकर कई बार किसान संगठनों से बातचीत भी की थीं. जिसका कोई भी अच्छा परिणाम नही आया था.

Kisan Andolan Farmers Protest Today Live Updates In Hindi - Kisan Andolan:  केंद्रीय मंत्री वीके सिंह का राकेश टिकैत को लेकर बड़ा बयान- पंजाब के  संगठनों के दबाव में जारी है ...

तो वही कृषि कानून की वापसी पर किसान नेता और आंदोलन के अगुआ राकेश टिकैत का कहना हैं कि किसान आंदोलन तत्काल वापस नहीं होगा. संसद में कानून वापस होने के बाद ही इस पर फैसला लिया जाएगा.  टिकैत ने कहा कि सरकार एमएसपी के मुद्दे पर भी बात करें.  इसके साथ ही किसानों से अन्य मुद्दों पर भी बात करने की जरूरत है.  वहीं, कुछ किसान संगठनों ने सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है.

जब राहुल गांधी ने कहा था- नोट कर लीजिए, सरकार को किसान विरोधी कानून वापस  लेना ही पड़ेगा! - Rahul Gandhi on Farm Laws Repealed Congress Leader says  Farmers down the head

मुद्दे को लेकर सियासत में छिड़ी जंग 

आपको बता दें की अब पांच राज्यों में  विधानसभा चुनाव होने वाले हैं जिससे  पहले केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला किया है. जबकि इस एलान के बाद से ही  सियासी दलों के नेता अपनी-अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. जिसमे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर केंद्र सरकार को घेरने की कोशिश की हैं. इसको लेकर राहुल गांधी ने ट्वीट किया , “देश के अन्नदाता ने सत्याग्रह से अहंकार का सर झुका दिया. अन्याय के खिलाफ ये जीत मुबारक हो!”

3 कृषि कानूनों को निरस्त पर बोली कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी, कहा- आगामी  चुनावों के कारण ही लिया कृषि कानूनों पर निर्णय - Congress leader Priyanka  Gandhi ...

जबकि प्रियंका गांधी कांग्रेस महासचिव ने भी केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा हैं कि चुनाव में हार दिखने लगी तो समझ आई सच्चाई. प्रियंका गांधी के इस ट्वीट ने सरकार पर आरोपों का की झड़ी लगा दीं.  प्रियंका ने ट्वीट किया, “600 से अधिक किसानों की शहादत,350 से अधिक दिन का संघर्ष, नरेन्द्रमोदी जी आपके मंत्री के बेटे ने किसानों को कुचल कर मार डाला, आपको कोई परवाह नहीं थी. आपकी पार्टी के नेताओं ने किसानों का अपमान करते हुए उन्हें आतंकवादी, देशद्रोही, गुंडे, उपद्रवी कहा, आपने खुद आंदोलनजीवी बोला…उनपर लाठियां बरसाईं, उन्हें गिरफ्तार किया. 

 

STORY BY – UPASANA SINGH