मन की बात में प्रधानमंत्री ने झारखंड के एलोवेरा विलेज देवरी को सराहा

रांची: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को मन की बात में झारखंड के एलोवेरा विलेज देवरी की सराहना की। प्रधानमंत्री ने कहा कि रांची के सतीश कुमार ने पत्र के माध्यम से झारखंड के एलोवेरा विलेज देवरी की ओर उनका ध्यान दिलाया है। देवरी गांव की महिलाओं ने मंजू कच्छप के नेतृत्व में एलोवेरा की खेती की है। इससे इन महिलाओं की न सिर्फ आमदनी बढ़ गई, बल्कि इससे स्वास्थ्य के क्षेत्र में लाभ भी मिला।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि रांची जिले के नगड़ी प्रखंड स्थित देवरी गांव को आज लोग एलोवेरा विलेज के रूप में जानते हैं। एलोवेरा की खेती गांव के हर आंगन और खेत में बखूबी हो रही है। एलोवेरा की खेती ग्रामीण महिलाओं के आर्थिक स्वावलंबन का वाहक बन रही है।

 

उल्लेखनीय है कि इस गांव की मंजू कच्छप सहित तमाम महिलाएं एलोवेरा के पौधों को सींचकर खुद के स्वावलंबन की वाहक बन रही हैं। इस सम्बंध में मंजू कहती हैं कि एलोवेरा ने पूरे राज्य में हमारे गांव का मान बढ़ाया है। अब इस गांव को लोग एलोवेरा विलेज के नाम से जानते हैं जो हमें गौरवान्वित करता है। बिरसा कृषि विश्वविद्यालय के सहयोग से एलोवेरा विलेज में उगाये जा रहे एलोवेरा की मांग पूरे राज्य में है। ग्रामीण महिलाएं 35 रुपये प्रति किलो के हिसाब से इसके पत्ते बेच रही हैं।

उन्होंने बताया कि मांग के अनुरूप आपूर्ति नहीं हो पा रही। यही कारण है कि अन्य खेतिहर परिवार भी एलोवेरा की खेती में आगे आ रहे हैं। मंजू ने कहा कि एलोवेरा जेल की मांग इन दिनों काफी बढ़ी है। ग्रामीण महिलाओं के मुताबिक, अधिक धूप की वजह से एलोवेरा की सिंचाई की जरूरत पड़ती है। हालांकि, इसके पौधरोपण में किसी प्रकार का खर्च नहीं होता। एक पौधा से दूसरा पौधा तैयार होता है, जिसमें किसी प्रकार का निवेश नहीं होता और बाजार भी उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि झारखंड सरकार का साथ ऐसे ही मिलता रहा तो बड़े पैमाने पर खेती करने से पीछे नहीं हटेंगी। इस खेती से कई अन्य महिलाएं भी जुड़ रही हैं।