Ambulance को जाम से निकालने के लिए 2 किमी तक दौड़ा रहा है ट्रैफिक पुलिस का जवान.

हैदराबाद में एक पुलिस वाला गाड़ियों के बीच से होते लगभग डेढ़ से 2 किमी तक दौड़ता रहा है.. इसके पीछे की वजह थी एक एम्बुलेंस.. दरअसल एम्बुलेंस में एक मरीज थाजिसे अस्पताल जल्द से जल्द पहुंचाना था लेकिन रोड जाम था.. इसके बाद हैदराबाद की सड़कों पर तैनात ट्राफिक पुलिस के जवान कॉन्सटेबल जी. बाबजी गाड़ियों के बीच से रास्ता बनाते हुए आगे आगे दौड़ने लगे… और पीछे पीछे एम्बुलेंस में जाम से निकलती गयी.. इस पूरे वाक्ये का वीडियो इस वक्त सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है और ट्रैफिक कांस्टेबल टी बाब जी की खूब तारीफ हो रही है लेकिन उन्हें सबसे बड़ी तारीफ और सबसे बड़ा सम्मान उन्हें उनकी बेटी ने दिया..

जाम में फंसी एम्बुलेंस को निकालने के लिए पुलिसकर्मी जी बाबजी तुरंत एंबुलेंस के लिए ट्रैफिक को हटाने आगे आए. यही नहीं उन्होंने एंबुलेंस के आगे-आगे करीब 1 किलोमीटर से भी ज्यादा तक दौड़ लगाई और एंबुलेंस को निकालने के लिए बाकी वाहनों को एक साइड किया.वायरल वीडियो (Viral Video) में दिख रहा है कि किस तरह जी बाबजी एंबुलेंस के लिए रास्ता बनाने के लिए उसके आगे दौड़ रहे हैं. न्यूज एजेंसी ANI ने भी पुलिसकर्मी का वीडियो शेयर किया है.
PS से लेकर आम इंसान तक उनके इस नेक काम की तारीफ के पुल बांध रहे हैं. वहीं अपने घर वापस आने पर जी बाबजी को एक ऐसा तोहफा मिला जो उनका दिन बनाने के लिए काफी था. उनकी 7 साल की मासूम बेटी ने जब अपने पापा को ऐसे ड्यूटी निभाते देखा तो उसने भी उन्हें गिफ्ट देने का सोचा. नन्ही बच्ची ने अपने डैड के लिए अपने हाथों से कार्ड बनाया  और देर रात तक जाग कर उनका वेट किया ताकि वो अपने हाथों से पापा को कार्ड दे सके. कार्ड पर लिखा था बधाई हो पापा.

इसके बाद फिर टी बाब  और उनकी बेटी का ये फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा.. लोग कांस्टेबल और उसकी बेटी की जमकर तारीफ कर रहे हैं.. लेकिन यहाँ सोचने वाली बात है कि जाम में फंसी एम्बुलेस को देखकर भी लोग उन्हें आगे जाने का रास्ता नही देना चाहते… कई बार ऐसा देखा देखने को मिला है जब जाम में फंसी एम्बुलेंस का सायरन बजता रहता है लेकिन लोग उसे अनसुना कर देते हैं.. खुद आगे निकलने की होड़ में लगे रहते हैं.. कई बार इस चक्कर में अस्पताल पहुँचने से पहले ही मरीजों की मौत हो जाती है और इसके पीछे सबसे बड़ा कारण होता है जाम