काम में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों पर होगी कड़ी कार्यवाही: डीजीपी

रांची: झारखंड के डीजीपी एमवी राव ने गलत कार्यों में लिप्त पुलिसकर्मियों पर सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। डीजीपी के आदेश के बाद काम में लापरवाही बरतने के मामले में कई थाना प्रभारियों पर इन दिनों कार्यवाही भी हो रही है। जबकि लापरवाही बरतने वाले कई थाना पर वरीय पुलिस अधिकारियों ने कार्रवाई भी की है। उल्लेखनीय है कि बरहेट थाना प्रभारी हरीश पाठक का 28 जुलाई को थाना परिसर पहुंची एक लड़की को पीटते और गाली देते हुए वीडियो वायरल होने के बाद सस्पेंड कर दिए गए थे। साथ ही पूरे मामले की छानबीन की जिम्मेदारी बरहरवा डीएसपी को दी गई थी। डीजीपी एमवी राव ने मामले में संज्ञान लेते हुए त्वरित कार्रवाई की थी।

उन्होंने  बरहरवा डीएसपी को दो दिनों के अंदर जांच पूरी करने का आदेश  दिया था ।  जांच रिपोर्ट में दोषी पाए जाने के बाद बरहेट के थाना प्रभारी हरीश कुमार पाठक पर इसी थाने में पीड़िता ने सरेआम पिटाई और गाली गलौज के मामले में मामला दर्ज कराया था। इसके अलावा होमगार्ड जवानों की समस्याओं और ड्यूटी के नाम पर बोकारो होमगार्ड डीएसपी पर पैसा वसूली का आरोप लगा हैं। इस पर डीजीपी एमवी राव ने संज्ञान लेते हुए बोकारो डीआईजी को जांच का आदेश दिया है और जल्द से जल्द डीजी होम गार्ड को इसकी रिपोर्ट सौंपने को कहा है। एस कुमार नाम के व्यक्ति ने ट्विटर पर डीजीपी को शिकायत की थी कि क्षमा चाहते हुए जानना है कि ऐसी कौन सी मजबूरी है जो बोकारो होमगार्ड डीएसपी साहब के हाथों से जवानों को शोषण किया जा रहा है । ड्यूटी के लिए पैसों की वसूली कराई जाती है।

रांची के लालपुर पुलिस की ओर से पीस रोड स्थित एक मकान का ताला तोड़कर दूसरे पक्ष को कब्जा दिलाने का प्रयास किया गया था। इस मामले में लालपुर थाना के सब इंस्पेक्टर रंजीत कुमार मुंडा को एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने बीते रविवार को निलंबित कर दिया है ।रांची एसएसपी ने कार्रवाई जांच रिपोर्ट के आधार पर की है। मालूम हो कि सुदीप दत्ता ने कुछ दिन पहले मामले में ट्विटर के जरिए एक शिकायत डीजीपी के पास की थी। उन्होंने पूरे मामले में घटना के दिन का एक वीडियो शेयर करते हुए डीजीपी को बताया था कि पुलिस उनके परिवार को परेशान कर रही है। शिकायत के आधार पर डीजीपी ने डीआईजी को जांच का आदेश दिया था । साथ ही रिपोर्ट भी मांगी थी जिसके बाद पुलिस अधिकारियों ने जांच शुरू की थी।